विदेशी मुद्रा व्यापार में भारत

भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग केसे करे

भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग केसे करे

Forex Trading Kya होती Hai ? हिंदी में जाने

आइए दोस्तो! क्या आप फॉरेक्स मार्केट या Forex Trading के बारे में जानना चाहते तो आप सही पोस्ट पर आए है और मैं खुद एक ट्रेडर हूं इसके बारे में आप को बेहतर तरीके से बता सकता हु। आइए जानते इस दुनिया की सबसे बड़ी मार्केट बारे में।

फॉरेक्स मार्केट क्या होता है –

फॉरेक्स क्या अर्थ होता है = foreion+exchange इस मार्केट में एक करेंसी को दूसरी करेंसी में बदला जाता है। यह दुनिया को सबसे बड़ी मार्केट है इसका रोज का लेनदेन 5 या 6 ट्रिलियन का होता है। यह 24×5 खुली रहती है और Suterday,Sunday बंद रहती है।

Forex Trading क्या होती है – FOREX TRADING IN HINDI

जिस तरह से लोग शेयर मार्केट में Profit यानी पैसा कमाने के लिए शेयरों की खरीदी बेचा करते है। इसी तरह इस forex market में किसी करेंसी को कम दाम में खरीद कर ज्यादा दाम में बेचने को ही फॉरेक्स ट्रेडिंग या करेंसी ट्रेडिंग कहते है। जिस तरह शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करने पर high या medium रिस्क होता है। इस मार्केट में ट्रेडिंग करने पर medium या low रिस्क होता है। इसमें ट्रेड करने पर मार्जिन काम देना पड़ता है। आगे हम मार्जिन और जो भी फॉरेक्स मार्केट में concept है उसको जानेंगे।

India में फॉरेक्स ट्रेडिंग कैसे होती है

भारत में यह दो तरीके से हो सकती है

  1. इंडियन ब्रोकर अकाउंट जैसे – Zerodha,Upstox Etc.
  2. International ब्रोकर अकाउंट जैसे – Octafx, Exness,Tickmill Etc.
    औरSEBI के गाईडलाइन के अनुसार NSE और BSE एक्सचेंज को दिए गये निर्देश के अनुसार सिर्फ पंजीकृत ब्रोकरों को ही यह ट्रेडिंग कराने की अनुमति है। यह ट्रेडिंग कानूनी रूप से लीगल है।
  • कुछ ही सालों में भारत में बाहरी फॉरेन एक्चेंज ने काफी दिलचस्पी दिखाई है और वह भारत में ट्रेडिंग कराने लगे है।

भारत में Forex Trading के कॉन्सेप्ट –

  • ट्रेडिंग करने के लिए सबसे जरूरी है Money Management, Risk Managment और Pyscology यही ट्रेडिंग का आधार है।
  • फॉरेक्स ट्रेडिंग हमेशा जोड़ो में होती है। जैसे – USD/INR ,GBP/INR, EUR/INR
  • भारत में करेंसी ट्रेडिंग दो तरह से होती है ऑप्शन ट्रेडिंग और फ्यूचर ट्रेडिंग

करेंसी हमेशा Pairs Me ट्रेड होती है।Pairs की कीमत हमेशा ऊपर नीचे होती रहती है।करेंसी Pairs के लिए फार्मूला होता है।

बेस करेंसी/कोटेशन करेंसी = Price (कीमत)

  • बेस करेंसी – बेस करेंसी हमेशा किसी देश करेंसी के एक बराबर माना जाता है। जैसे – 1 डॉलर 1 रुपया 1 जापानी येन
  • कोटेशन करेंसी – कोटेशन करेंसी वह करेंसी जो बेस करेंसी के मुकाबले बताया जाता है
  • Price – कीमत उसे कहते जो बेस करेंसी के मुकाबले कोटेशन की कीमत होती है

मान लीजिए की USD (अमेरिकी डॉलर)/INR (भारतीय रुपए) एक पेयर है जिसकी कीमत = 79 है।

यहां USD अमेरिकी डॉलर एक बेस करेंसी है और INR भारतीय रुपया एक कोटेशन करेंसी है। इसकी कीमत 79 है जिसका मतलब है 1 डॉलर लेने के लिए 79 रुपया देना होगा।

भारत में ट्रेडिंग करने के कुछ नियम –

Lot – फॉरेक्स ट्रेडिंग हमेशा Lot साइज में होती है।भारत में एक Lot 1000 करेंसी का होता है यानी 1000 बेस करेंसी का। JPY/INR में यह 10000 का होता है।

Pips या Tick– पेयर्स में प्राइस की सबसे छोटी movment को pip या tick कहते है। भारत में 1 Pip = 0.0025 भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग केसे करे होता है।

मार्जिन – मार्जिन शब्द हमेशा ट्रेडिंग में इस्तेमाल होता है।जैसे हम कोई ट्रेड में एंटर करते है तो हमे पूरा पैसा न देकर कुछ परसेंट पैसा देकर ट्रेड में एंटर कर सकते है जैसे USD/INR का एक lot buy करना है तो 79000 रुपए का होता है क्यों होता क्योंकि lot 1000 का था lot हमेशा बेस करेंसी के बराबर होता है लेकिन हमे लेवरेज मिलता जिसके कारण हमे सिर्फ 2000 ya 2200 में आप ट्रेड कर सकते है। इसी को मार्जिन कहते है।

Trading Hours – भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग का समय सुबह 9 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक ही होती है।

फॉरेक्स मार्केट को इफेक्ट करने वाले कारक

USD/INR का प्राइस कम को एप्रीसिएशन कहते है और प्राइस बढ़ने को डिप्रीशिएशन कहते है। प्राइस कम होने का मतलब है भारतीय रुपया मजबूत होता है।जब प्राइस बढ़ता है तो भारतीय रुपया कमजोर होता है।

  1. इनफ्लेशन (मुद्रास्फीति) – जब महगाई की दर यानी महंगाई कम होती है तब INR एप्रीसिएशन होता है
  2. इंटरेस्ट रेट्स (ब्याज दर) – जब rbi रेट्स बढ़ाता है तब भी INR एप्रीसिएशन होता है।
  3. RBI का USD/INR का बेचना – जब INR का प्राइस बढ़ने लगता है।इससे एक्सपोर्टइंपोर्ट करने में परेशानी होने लगती है तो RBI USD/INR बेचने लगता है इससे मार्केट स्थिर हो जाता है और एप्रेशियट होने लगता है।
  4. निर्यात – जब एक्सपोर्ट या निर्यात बढ़ने लगता है।तब INR एप्रीसिएशन होता है।
  5. राजनीतिक स्थिरता – भारत में जब सरकार बार – बार नही बदलती है और एक सरकार पूरे पांच साल तक रहती है तो भी INR एप्रीसिएशन होता है
  6. करेंट अकाउंट डेफिसिट – करेंट अकाउंट डेफिसिट होता है तो भी INR का प्राइस कम होने लगता है

Forex Trading में जरुरी टिप्स

  • ट्रेडिंग करने के लिए सबसे जरूरी है सही ब्रोकर को चुनना।कुछ ब्रोकर hidden चार्जेस लेने लगते है।
  • ट्रेडिंग करते समय जरूरी है आप इमोशन पर काबू करे नही तो ट्रेडिंग आपकी दुश्मन बन जायेगी। जिसने भी इमोशन को कंट्रोल कर लिया वह ट्रेडर बन गया। ट्रेडिंग में 90% साइकोलॉजी यानी इमोशन और 10% स्किल important है।
  • आप हमेशा सीखते रहे और प्रैक्टिस करते है इससे आपकी स्किल improve होगी आप और भी अच्छे ट्रेडर बन पायेंगे।
  • एक अच्छा ट्रेडर मार्केट की साइकोलॉजी को समझता है वह यह जानता है अब मार्केट ओवरबॉट या ओवरसेल हो चुका है
  • जो ट्रेडर रिस्क नहीं लेता वह ट्रेडर नही होता है ।बिना रिस्क लिए आप प्रॉफिट नहीं कमा सकते है।वो डायलॉग सुना है रिस्क है तो इश्क है।
  • टेक्निकल एनालिसिस करे! और उसे ज्यादा से ज्यादा सीखे और चार्ट पैटर्न को देख कर ट्रेड करने का निर्णय लीजिए ।
  • स्टॉप लॉस ट्रेडिंग सबसे जरूरी हिस्सा है ।जब भी आप ट्रेड में एंटर हो पहले आप अपना स्टॉप लॉस सेट करने के बाद ही किसी ट्रेड में एंटर करे।

अगर आपको यह Blog Post पसंद आया हो तो नीचे Comment जरूर करें।आप इसे Facebook व Whatspp पर शेयर करें धन्यवाद!

फोरेक्स ट्रेडिंग ऑनलाइन

एक बाजार जो दैनिक मात्रा में लगभग $ 5.2 ट्रिलियन को आकर्षित करता है, जिसे दुनिया के सबसे बड़े बाजार के रूप में मान्यता प्राप्त है, जो विश्व स्तर पर 24 घंटे उपलब्ध है - बिल्कुल यही मुद्रा बाज़ार होता है। छोटी मार्जिन आवश्यकताओं और कम प्रवेश बाधाओं का लाभ इसे खुदरा निवेशक के पोर्टफोलियो का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनाता है।

  • फ्यूचर्स, ऑप्शन में ट्रेड
  • छोटी मार्जिन आवश्यकताएँ
  • नियंत्रित विनियमन
  • पोर्टफोलियो का विविधीकरण
  • जोखिम से बचाव
  • निवेश, व्यापार, बचाव, अनुमान लगाना

मुद्रा व्यापार के लिए हमें क्यों चुनें

  • लाभ -4 गुना एक्सपोजर
  • सुरक्षित व्यापार अनुभव
  • वैयक्तिकृत सूचना
  • कुशल जोखिम प्रबंधन
  • समर्पित सलाहकार दल

अभी डीमैट खाता खोलें!

Loading.

मुद्रा और विदेशी मुद्रा बाजार की अनुशंसाएं

No data at this time

Loading.

Latest Report

Currency Daily

Currency Daily

Currency Daily

Currency Daily

Loading.

एडुएम.ओ वीडियो

गहन, विस्तृत अध्याय। आसानी से सीखने के लिए वीडियो और ब्लॉग। मजेदार, प्रभावी और सहायक

ब्लॉग्स

8 Key Elements Of Currency Trading

Understanding the Fundamentals of Currency Trading for Beginners

Earn Profit Without Taking Any Risks in Currency Trading

मुद्रा संबंधी एफ.ए.क्यू

व्यापार डेरिवेटिव के लिए न्यूनतम निवेश कितना है?

यह कदम तब आया जब बाज़ार नियामक सेबी ने छोटे निवेशकों को उच्च जोखिम वाले उत्पादों से बचाने के प्रयास में वर्तमान में किसी भी इक्विटी डेरिवेटिव उत्पाद के लिए न्यूनतम निवेश आकार में 2 लाख रुपए से 5 लाख रुपए तक की बढ़ोतरी की।

करेंसी ट्रेडिंग इन इंडिया क्या है और मैं मुद्रा व्यापार कैसे शुरु करूँ?

विदेशी मुद्रा व्यापार, एक मुद्रा का दूसरे में रूपांतरण है। यह दुनिया के सबसे सक्रिय रूप से कारोबार किए जाने वाले बाज़ारों में से एक है, जिसमें औसत दैनिक व्यापार की मात्रा 5 ट्रिलियन डॉलर है।

मैं ऑनलाइन फोरेक्स ट्रेडिंग कैसे कर सकता हूँ?

सभी मुद्रा व्यापार जोड़े में किया जाता है। शेयर बाज़ार के विपरीत, जहाँ आप एकल स्टॉक खरीद या बेच सकते हैं, आपको एक मुद्रा खरीदनी होगी और दूसरी मुद्रा को विदेशी मुद्रा बाज़ार में बेचना होगा। इसके बाद, लगभग सभी मुद्राओं का मूल्य चौथे दशमलव बिंदु तक होगा। बिंदु में प्रतिशत व्यापार की सबसे छोटी वृद्धि है।

भारत में मुद्रा का व्यापार कैसे कर सकता हूँ?

सभी मुद्रा व्यापार जोड़े में किया जाता है। शेयर बाज़ार के विपरीत, जहाँ आप एकल स्टॉक खरीद या बेच सकते हैं, आपको एक मुद्रा खरीदनी होगी और दूसरी मुद्रा को विदेशी मुद्रा बाज़ार में बेचना होगा। इसके बाद, लगभग सभी मुद्राओं का मूल्य चौथे दशमलव बिंदु तक होगा। बिंदु में प्रतिशत व्यापार की सबसे छोटी वृद्धि है।

विदेशी मुद्रा व्यापार से लाभ प्राप्त कैसे करें?

विदेशी मुद्रा व्यापार आपको मुनाफ़ा दे सकती है यदि आप असामान्य रूप से कुशल मुद्रा व्यापारी के साथ धनराशि को छुपा कर रखते हैं। हालांकि इसका अर्थ यह लगाया जा सकता है कि मुद्राओं में व्यापार करते समय तीन में से एक व्यापारी का पैसा नहीं डूबता, लेकिन यह समृद्ध व्यापार विदेशी मुद्रा प्राप्त करने के समान नहीं है।

क्या विदेशी मुद्रा व्यापार में कोई जोखिम कारक शामिल है?

विदेशी मुद्रा व्यापार में मुद्रा जोड़े का व्यापार शामिल है। कोई भी निवेश जो संभावित लाभ प्रदान करने का प्रस्ताव रखता है उसमें भी मार्जिन पर व्यापार करते समय अपने लेनदेन के मूल्य से बहुत अधिक खोने के बिंदु तक डाउनसाइड जोखिम होता है।

भारतीय विदेशी मुद्रा क्या है?

भारत के आर्थिक सर्वेक्षण 2014-15 में कहा गया कि भारत 750 बिलियन यू.एस डॉलर से 1 ट्रिलियन डॉलर तक के विदेशी मुद्रा भंडार को लक्षित कर सकता है। दिसंबर 2019 तक, भारत के विदेशी मुद्रा भंडार मुख्य रूप से यू.एस सरकारी बॉन्ड और संस्थागत बॉन्ड के रूप में यू.एस डॉलर के साथ सोने में लगभग 6% विदेशी संचय से बने हैं ।

फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है (What Is Forex Trading)?

फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है (What Is Forex Trading)?

आज बहुत से लोग स्टॉक मार्केट में ट्रेड करते हैं। लेकिन इसमें एक टर्म फॉरेक्स ट्रेडिंग भी है। इसमें निवेश करके लोग बहुत पैसे कमा रहें है। क्या आप इस टर्म से बाकिफ़ हैं? अगर आप जानते भी हैं, तो फॉरेक्स ट्रेडिंग भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग केसे करे कैसे काम करती है या ये लीगल है। ऐसे कई सवाल आपके दिमाग में घूमते होंगे लेकिन सबसे पहले आपको फॉरेक्स अर्थ का पता होना चाहिए। फॉरेक्स का मतलब फॉरेन एक्सचेंज है। आसान शब्दों में कहें तो ये फॉरेक्स ट्रेडिंग का मतलब एक दूसरे के साथ विदेशी मुद्रा का व्यपार करना है। आइए आज इस विषय से जुड़ी सारी जानकारी को जानें:-

Podcast

Continue Reading..

फॉरेक्स ट्रेडिंग शेयर मार्केट (share market) का एक हिस्सा है। फॉरेक्स एक्सचेंज दुनिया में ग्लोबल मार्केटिंग (global marketing) के लिए सबसे बड़ा प्लेटफ़ॉर्म है। यहां आप लगभग रोज़ाना तकरीबन 5.3 ट्रिलियन डॉलर तक का निवेश कर सकते हैं। यह दुनिया का सबसे बड़ी फाइनेंशल मार्केट है। अगर आप इस फॉरेक्स ट्रेडिंग के इस शब्द से भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग केसे करे बाकिफ़ नहीं है तो आपको बता दें कि फॉरेक्स ट्रेडिंग का मतलब एक दूसरे के साथ विदेशी मुद्रा का व्यापार करना है। आप चाहे तो किसी भी विदेश से अपनी मुद्रा या करंसी को एक्सचेंज करवा सकते हैं। हम जानते हैं कि आपका अगला सवाल क्या होगा? इसलिए नीचे हम भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग (forex trading in india) से जुड़ी सारी जानकारी को कवर करेंगे।

भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग | Forex Trading In India

आज भारत में स्टॉक मार्केट में बहुत पैसा कमा रहे हैं, इसके साथ-साथ वे अब फॉरेक्स ट्रेडिंग में भी निवेश कर अच्छा कमा रहें है। भारत में बहुत से लोग ऐसे हैं, जो फॉरेक्स ट्रेडिंग को करने के लिए तैयार नहीं हैं। क्योंकि बहुत से लोगों को फॉरेक्स ट्रेडिंग के बारे में इतनी जानकारी नहीं है जिसकी वजह से वो इसमें ट्रेड नहीं करते। तो दोस्तों Forex , जिसे विदेशी मुद्रा, एफएक्स या Currency Trading, के नाम से भी जाना जाता है। यह एक Decentralized Global Market है ये लोगों की डिमांड और सप्लाई के आधार पर कम या ज़्यादा होती रहती है। इसमें दुनियाभर की सभी करंसी ट्रेडिंग करती हैं। फॉरेक्स ट्रेडिंग दुनिया का सबसे बड़ा ट्रेडिंग प्लेटफ़ॉर्म है जहाँ आप दैनिक रूप से 5 से 6 ट्रिलियन भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग केसे करे डॉलर तक निवेश कर सकतें है हालांकि share market के अन्य सेग्मेंट का दैनिक निवेश इसके आस-पास भी नहीं है, तो सोचो यदि आप फॉरेक्स ट्रेडिंग में ट्रेड करना सीख जाते हैं तो आपको कितने अच्छे व्यापारिक अवसर मिल सकतें है जिससे आप अच्छा खासा मुनाफ़ा कमा सकतें है। लेकिन फॉरेक्स ट्रेडिंग में निवेश से पहले आपको उसकी समझ और पूरी जानकारी होनी चाहिए।

क्या भारत में लीगल है फॉरेक्स ट्रेडिंग? Is Forex Trading Legal In India

जब भी फॉरेक्स ट्रेडिंग की बात आती है, तो भारतीयों के मन में ये सदेंह जरूर रहता है कि क्या भारत में वैध है (is forex trading legal in india)? जी हाँ ये भारत भारत में वैध है। फॉरेक्स ट्रेडिंग कानूनी (legal) है लेकिन इसमें कुछ प्रतिबंध भी लगाए गए है। ये सिर्फ भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) और भारतीय सिक्योरिटीज विनयम बोर्ड (SEBI) द्वारा तय की गई सीमाओं के अंदर है। यदि आप इसमें ट्रेड करना चाहते हैं तो आपको इससे जुड़े कुछ नियमों का पालन करना होगा। यदि आप दिए गए नियमों का पालन नहीं करते हैं तो आपको बिना जमानत की जेल हो सकती है। क्योंकि इसे कानून की नज़र में बहुत बड़ा अपराध माना गया है।

भारत में बेस्ट फॉरेक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म | Best Forex Trading Platform In India

भारत में यदि आप फॉरेक्स ट्रेडिंग करने का सोच रहे हैं, तो सेबी द्वारा रजिस्टर्ड स्टॉक ब्रोकर्स (stock brokers) के साथ ही ट्रेडिंग शुरू करें। आइये कुछ भारत में बेस्ट फॉरेक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म (best forex trading platform in india) के बारे में जाने:-

कोटक सिक्योरिटी (kotak securities)

कोटक सिक्योरिटी एक फुल सर्विस स्टॉक ब्रोकर है। फॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए ये एक बेस्ट प्लेटफ़ॉर्म है क्योंकि इसमें ये निवेश को सरल और अच्छा इंटेरनेट कनेक्शन रखतें है। ये नये ग्राहकों के लिए सुविधाजनक हो सकता है। ये अपने ग्राहकों को अलग-अलग प्लेटफॉर्म भी प्रदान करता है। यदि आप इनसे काल की सुविधा से ट्रेड का लाभ उठाना चाहतें है तो कोटक सिक्योरिटी टोल फ्री नम्बर ( kotak securities toll free number 18002099191) और कोटक सिक्योरिटी काल और ट्रेड नंबर (kotak securities call or trade number) 08047253255 पर काल कर सकतें है।

5पैसा (5paisa)

ये मुंबई स्थित डिस्काउंट स्टॉक ब्रोकर (discount stock broker) है। फॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए इसे भी आप अपनी सूची में रख सकतें है क्योंकि इसका सपोर्ट आईआईएफएल ग्रुप द्वारा किया जाता है जो इंडिया की प्रसिद्ध वित्तिय सेवा कंपनी है। इनके ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म को अपने मोबाइल ब्राउज़र या डेस्कटॉप आदि पर भी इंस्टॉल कर सकते हैं। यह एक बेस्ट यूज़र्स इंटरफ़ेस प्रदान करता हैं, जो ट्रेडर्स को तुरंत ट्रेडिंग निर्णय लेने में मदद करता है। ये डिस्काउंट ब्रोकर के 5पैसा मोबाईल ऐप,5पैसा ट्रेड टर्मिनल, 5पैसा ट्रेड स्टेशन जैसे प्लेटफ़ॉर्म प्रदान करता है।

ऐंजल ब्रोकिंग (Angel Broking)

भारत में अगर रिटेल ब्रोकर्स हाउस की बात करें तो ऐंजल ब्रोकिंग बेस्ट है। ये कई सेग्मेंट्स जैसे नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE), बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE),मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) आदि में ट्रेड करने का मौका देता है। यह विशेषज्ञों द्वारा निवेशकों को दैनिक, साप्ताहिक और रिर्सच रिपोर्ट प्रदान करता है। ये 5 प्लेटफॉर्म देता है जो फॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए बेस्ट है।

1. ऐंजल ब्रोकिंग वेब

2. ऐंजल स्पीडप्रो

3. ऐंजल ट्रेड

4. ऐंजल लाइट

5. ऐंजल ब्रोकिंग मोबाइल ऐप

ज़ेरोधा (zerodha)

ज़ेरोधा पांच प्रकार के फॉरेक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म प्रदान करता है। जो निवेशकों के लिए बहुत ही सुविधाजनक और बेस्ट माने गये है।

1. ज़ेरोधा काइट वेब

इसे आप मोबाइल (mobile),ब्राउज़र (browser) या टैब (tab) किसी पर भी उपयोग कर सकते हैं।

2. ज़ेरोधा काइट मोबाइल ट्रेडिंग ऐप

इसे आप अपने मोबाइल से चला सकते हैं।

3. ज़ेरोधा पाई

इसे आप इंस्टॉल कर सकते हैं। यह आपको एडवांस चार्ट, एलगोस और बैक्टेस्टिंग आदि प्रदान करता है।

आईसीआईसीआई डायरेक्टर (Icicici direct)

यह भारत का प्रमुख ऑनलाइन फॉरेक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म है। इसे फॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए बेस्ट माना जाता है। यह दैनिक रिपोर्ट, तकनीक विश्लेषण और सलाह भी देता है। यह दो ट्रेडिंग प्लेटफार्म प्रदान करता है।

आईसीआईसीआई डायरेक्टर ट्रेड रेसर

यह तकनीक विश्लेषण, अनुकिलित इंटरफेस और इंट्राडे ट्रेडिंग (intraday trading) से लेकर मार्केट के लिए शार्टकट जैसी सुविधाएं देता है।

आईसीआईसीआई डायरेक्टर मोबाइल ऐप

इसे मोबाईल आधारित ऐप है जिसे आप अपने फोन से चला सकते हैं।

भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है(what is forex trading in india)

भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग में ट्रेड करने का ये नया ज़रिया तेजी से फेल रहा है। आज भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग के कई पार्टिसिपेंट्स हैं जो इसमें निवेश करके पैसा कमा रहा है। लेकिन आपकी बेहतर भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग केसे करे जानकारी के लिए आपको बता दें कि फॉरेक्स ट्रेडिंग हमेशा जोड़ो में कि जाती है। उदाहरण के लिए जिबीपी -आईएनआर (GBP-INR)। ध्यान रहें इसे करने के लिए नियमों का उलंघन न हो।

अंत में उम्मीद है आपको आज के इस फॉरेक्स ट्रेडिंग के विषय में बेहतर जानकारी मिली होगी।

फॉरेक्स ट्रेडिंग क्या है फॉरेक्स ट्रेडिंग कैसे करे Forex Trading in India in Hindi

आज बहुत से लोग शेयर मार्किट के अन्दर ट्रेडिंग करते है और अच्छे पैसे कमाते है इसके साथ बहुत से लोग Forex ट्रेडिंग भी करते है इसके अन्दर भी बहुत से लोग अच्छे पैसे कमाते है लेकिन बहुत से लोगो को Forex ट्रेडिंग के बारे में इतना पता नही है इस लिए वह ट्रेडिंग नही कर पाते है तो आपको बता दे Forex , जिसे विदेशी मुद्रा, एफएक्स या Currency Trading, के रूप में भी जाना जाता है|

Forex Trading in India in Hindi

एक Decentralized Global Market है जहां दुनिया की सभी Currency Trading करती हैं। विदेशी मुद्रा बाजार दुनिया का सबसे बड़ा, सबसे अधिक तरल बाजार है, जिसकी औसत दैनिक ट्रेडिंग मात्रा $ 6 ट्रिलियन से अधिक है। दुनिया के तमाम शेयर बाजार इसके करीब भी नहीं आते। लेकिन आपके लिए इसका क्या मतलब है? विदेशी मुद्रा व्यापार पर करीब से नज़र डालें और आपको कुछ रोमांचक व्यापारिक अवसर मिल सकते हैं जो अन्य निवेशों के साथ उपलब्ध नहीं हैं।

फॉरेक्स मार्केट क्या है? Forex Trading Details hindi

फॉरेक्स (जिसे फॉरेक्स या FX भी कहा जाता है) का मतलब ग्लोबल, ओवर-द-काउंटर मार्केट (OTC) से है जहां ट्रेडर, निवेशक, संस्थान और बैंक, एक्सचेंज सट्टा लगाते हैं, विश्व करेंसियां खरीदते और बेचते हैं।

ट्रेडिंग ‘इंटरबैंक बाजार’ पर किया जाने वाला ऑनलाइन चैनल, जिसके माध्यम से, सप्ताह में पांच दिन चौबीसों घंटे करेंसियां ट्रेड की जाती हैं। फॉरेक्स सबसे बड़े ट्रेडिंग बाजारों में से एक है, ग्लोबल दैनिक भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग केसे करे ट्रेड 5 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक होने का अनुमान है।

फॉरेक्स ट्रेडिंग मार्केट कैसे काम करती है

शेयरों या वस्तुओं के विपरीत Forex Trading एक्सचेंजों पर नहीं बल्कि सीधे Two Parties के बीच एक ओवर-द-काउंटर (ओटीसी) बाजार में होता है। विदेशी मुद्रा बाजार बैंकों के वैश्विक नेटवर्क द्वारा चलाया जाता है, जो अलग-अलग समय क्षेत्रों में चार प्रमुख Forex Trading केंद्रों में फैला हुआ है: लंदन, न्यूयॉर्क, सिडनी और टोक्यो। क्योंकि कोई केंद्रीय स्थान नहीं है, आप 24 घंटे विदेशी मुद्रा व्यापार कर सकते हैं।

फॉरेक्स ट्रेडिंग मार्किट के तीन अलग-अलग प्रकार हैं: Forex Trading Details hindi

स्पॉट फॉरेक्स मार्केट: एक मुद्रा जोड़ी का भौतिक आदान-प्रदान, जो व्यापार के ठीक उसी बिंदु पर होता है – यानी ‘मौके पर’ – या थोड़े समय के भीतर

फॉरवर्ड फॉरेक्स मार्केट: एक अनुबंध एक निर्दिष्ट मूल्य पर एक मुद्रा की एक निर्धारित राशि को खरीदने या बेचने के लिए सहमत है, भविष्य में एक निर्धारित तिथि पर या भविष्य की तारीखों की एक सीमा के भीतर तय किया जाएगा।

फ्यूचर फॉरेक्स मार्केट: भविष्य में एक निर्धारित मूल्य और तारीख पर किसी दिए गए मुद्रा की एक निर्धारित राशि को खरीदने या बेचने के लिए एक अनुबंध पर सहमति व्यक्त की जाती है। आगे के विपरीत, एक वायदा अनुबंध कानूनी रूप से बाध्यकारी है
​विदेशी मुद्रा की कीमतों पर अटकलें लगाने वाले अधिकांश व्यापारी मुद्रा की डिलीवरी स्वयं लेने की योजना नहीं बनाएंगे; इसके बजाय वे बाजार में मूल्य आंदोलनों का लाभ उठाने के लिए विनिमय दर की भविष्यवाणी करते हैं।

फॉरेक्स ट्रेडिंग के लिए जरुरी टर्म्स

भारत में करेंसी ट्रेड से संबंधित कुछ विशिष्ट शब्द इस प्रकार हैं:

स्पॉट प्राइस और फ्यूचर्स प्राइस – स्पॉट प्राइस वह कीमत है जिस पर एक करेंसी पेयर वर्तमान में मार्केट में ट्रेड कर रही है। फ्यूचर प्राइस वह मूल्य है जिस पर फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट मार्केट में ट्रेड करता है।

लॉट साइज – करेंसी ट्रेडिंग बहुत सारे पेयर्स में किया जाता है और विभिन्न पेयर्स के लिए लॉट साइज तय किया गया है। USD / INR, GBP / INR, EUR / INR के लिए, यह 1000 है और JPY / INR के लिए, यह 10000 है।

कॉन्ट्रैक्ट साइकल – एक महीने, दो महीने, तीन महीने से बारहवें महीने तक की करेंसी के फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट के लिए अलग-अलग एक्सपायरी साइकल हैं।

एक्सपायरी डेट – इसमें एक फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट की समाप्ति तिथि निर्दिष्ट है। यह कॉन्ट्रैक्ट महीने का अंतिम कार्य दिवस (शनिवार को छोड़कर) है। कॉन्ट्रैक्ट के ट्रेडिंग के लिए अंतिम दिन अंतिम सेटलमेंट की तारीख या मूल्य की तारीख से दो दिन पहले होगा।

सेट्लमेंट की तारीख – सभी कॉन्ट्रैक्ट के लिए, लास्ट सेट्लमेंट डेट महीने का लास्ट बिज़नेस डे है।

बेस: आधार, फ्यूचर प्राइस और स्पॉट प्राइस के बीच का अंतर है।

बेस = फ्यूचर प्राइस – स्पॉट प्राइस Forex Trading Details hindi

एक सामान्य मार्केट में, आधार सकारात्मक होता है क्योंकि फ्यूचर प्राइस सामान्य रूप से स्पॉट प्राइस से अधिक होता हैं।

पिप या टिक – पिप प्रतिशत में एक बिंदु के लिए संक्षिप्त रूप है। इसे टिक भी कहा जाता है। पिप एक करेंसी पेयर में परिवर्तन की एक स्टैंडर्ड यूनिट है।

1 पिप सबसे छोटी राशि का प्रतिनिधित्व करता है जिसके द्वारा एक करेंसी क्वोट बदल सकती है। सभी चार करेंसी पेयर, USD / INR, GBP / INR, EUR / INR और JPY / INR के लिए 1 पाइप का मूल्य 0.0025 निर्धारित है।

मार्जिन – एक फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट में प्रवेश करने से पहले, एक प्रारंभिक मार्जिन आवश्यक होती है जिसे ट्रेडिंग खाते में जमा करने की आवश्यकता होती है।

फ्यूचर ट्रेडिंग करते समय, हमें बस हर ट्रेड के लिए मार्जिन राशि जमा करने की आवश्यकता होती है। पूरी राशि खाते में होने की आवश्यकता नहीं है।

किसी ट्रेडर के लिए यह एक अच्छा लाभ है, अगर मार्केट अपेक्षित दिशा में आगे बढ़ता है।

यदि आपको यह Forex Trading in India in Hindi Hindi की जानकारी पसंद आई या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter और दुसरे Social media sites share कीजिये |

Forex Trading को लेकर RBI से बड़ा अपडेट! 34 फॉरेक्स ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के नामों की लिस्ट हुई जारी, इनपर न करें ट्रेड

रिजर्व बैंक ने आज 34 ऐसे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स की लिस्ट जारी की है जो बिना रिजर्व बैंक की मंजूरी के ट्रेडिंग करा रहे हैं. रिजर्व बैंक ने कहा है कि ऐसे प्लेटफॉर्म फॉरेक्स एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट या फिर इलेट्रॉनिक प्लेटफॉर्म ट्रेडिंग से जुड़े नियमों के तहत रिजर्व बैंक के पास रजिस्टर्ड नहीं है.

रिजर्व बैंक ने फॉरेक्स ट्रेडिंग के जरिए मुनाफा कराने वालों के बारे में लोगों को आगाह किया है. रिजर्व बैंक ने आज 34 ऐसे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स की लिस्ट जारी की है जो बिना रिजर्व बैंक की मंजूरी के ट्रेडिंग करा रहे हैं. रिजर्व बैंक ने कहा है कि ऐसे प्लेटफॉर्म फॉरेक्स एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट या फिर इलेट्रॉनिक प्लेटफॉर्म ट्रेडिंग से जुड़े नियमों के तहत रिजर्व बैंक के पास रजिस्टर्ड नहीं है. रिजर्व बैंक के मुताबिक ये लिस्ट अभी के हिसाब से और इसमें अगर शिकायतें आएंगी तो जांच के बाद लिस्ट की संख्या बढ़ भी सकती है. इसका मतलब ये भी नहीं है कि जिन प्लेटफॉर्म के नाम इस लिस्ट में नहीं हैं वो ऑथराइज्ड ही हैं. ऑथराइज्ड स्टेटस जांचने के लिए रिजर्व बैंक की वेबसाइट पर मुहैया ऑथराइज्ड लोगों और ऑथराइज्ड इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स की लिस्ट से मिलान किया जा सकता है.

रिजर्व बैंक ने आगाह किया है कि केवल अधिकृत संस्थाओं से ही फॉरेक्स सौदे किए जा सकते हैं और केवल उसी मद में किए जा सकते हैं जिनकी नियमों के तहत इजाजत है. जिन फॉरेक्स सौदों की इजाजत है वो केवल रिजर्व बैंक से ऑथराइज्ड ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स से ही होना चाहिए. या फिर BSE, NSE जैसे मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंज से किए जा सकते हैं. ऐसे में लोगों को रिजर्व बैंक ने आगाह किया है कि वो अनाधिकृत प्लेटफॉर्म्स से फॉरेक्स के सौदे न करें. अगर कोई अनाधिकृत सौदे करेगा तो फॉरेक्स एक्सचेंज मैनेजमेंट एक्ट (FEMA) नियमों के तहत कार्रवाई के लिए जिम्मेदार होगा.

अगर आप भी फॉरेक्स ट्रेडिंग में दिलचस्पी रखते हैं तो आपने भी Forex Trading के जरिए रातों-रात अमीर बनने का सपना दिखाने वाले एडवर्टीज़मेंट देखे होंगे. ऐसे विज्ञापन अकसर महंगाई का सौदा होते हैं. ये फॉरेक्स ट्रेडिंग ऐप्स निवेशकों को पहली बार ट्रेड के लिए फ़्री कैश या फ्री ट्रेडिंग कोर्स जैसे ऑफर देते हैं. खुद को क्रेडिबल दिखाने के लिए बड़े-बड़े दावे भी करने से पीछे नहीं हटते हैं. आरबीआई काफी वक्त से इनके खिलाफ लोगों को जागरूक कर रहा है.

आरबीआई इसके पहले भी कई ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म्स के खिलाफ लोगों को आगाह कर चुकी है. इनमें से OctaFx, OlympTrade, Alpari, Forex.com, Ava भारत में फॉरेक्स ट्रेडिंग केसे करे Trade, FBS, I-Forex, Binomo.com, IQ Option, TP Global Forex जैसे प्लेटफॉर्म पर फॉरेक्स ट्रेडिंग रिजर्व बैंक नियमों के तहत कानूनन अपराध की श्रेणी में आता है. ये प्लेटफॉर्म्स रिजर्व बैंक या सेबी में से किसी के पास भी रजिस्टर्ड नहीं हैं.

रेटिंग: 4.84
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 418
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *