सबसे अधिक लाभदायक विदेशी मुद्रा रणनीति

ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai?

ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai?
वही जब Trading account की बात आती है तो यहां पर आप जिस शेयर को खरीदते हैं, किसी एक व्यापारिक दिन में, या आपके द्वारा खरीदे गए शेयर को बेचने के ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai? लिए आप ट्रेडिंग अकाउंट के माध्यम से NSE या BSE पर अपने शेयर को बेच सकते हैं। तो चलिए जानते हैं, की Trading account क्या होता है? What is Trading account in Hindi.

Trading kya hai in hindi

Trading account क्या होता है?

शेयर बाजार से शेयर की खरीद-फरोख्त के लिए आप को Trading account की जरूरत पड़ती है। जिस तरह से आपको अपने शेयर को खरीदने के लिए डीमैट अकाउंट की आवश्यकता होती है। ठीक उसी तरह ट्रेडिंग अकाउंट की सहायता से आप अपने शेयर की खरीद-फरोख्त कर सकते हैं।

बहुत से लोगों को Demat account के बारे में जानकारी तो अवश्य होती है। लेकिन उन्हें एक समय के बाद अपने खरीदे गए शेयर को किन्ही कारणों से बेचना भी पड़ता है। ऐसी स्थिति में उन्हें Trading account की जरूरत पड़ती है।

अगर आप शेयर की खरीद-फरोख्त करना चाहते हैं तो आपको Demat account के साथ-साथ Trading account की भी ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai? आवश्यकता होती है। तभी आप शेयर की खरीद-फरोख्त कर सकते हैं। Demat account एक तरह से आपके बैंक अकाउंट की तरह ही कार्य करती है। जिसमें आप शेयर को डिजिटल तरीके से खरीद करके जमा करके रख सकते हैं।

Trading account क्या होता है?

Trading account को आप किसी broker के साथ खोलते हो, ताकि आप broker के जरिए अपने द्वारा खरीदे गए share की खरीद बिक्री कर सकते हैं।

उदाहरण, माना कि आपने इसी कंपनी xyz के शेयर खरीदें, यह शेयर आपके Demat account पर digitally जमा हो जाते हैं। SEBI के आदेश एवं नियम अनुसार आप बिना Demat account के शेयर नहीं खरीद सकते हैं। Demat account एक प्रकार से आपके saving bank account की तरह ही कार्य करती है। जैसे कि आप अपने saving बैंक अकाउंट पर पैसों को जमा करके रखते हो। आप जब चाहे तब अपने अकाउंट में मौजूद पैसों को पासबुक पर प्रिंट करवा करके देख सकते हो, या फिर ईमेल या एसएमएस के माध्यम से अपने अकाउंट की डिटेल एवं पैसे की जानकारी प्राप्त कर सकते हो। ठीक उसी तरह Demat account पर जमा आपके शेयर के बारे में जानकारी आप हासिल कर सकते हो।

Demat account क्या होता है? इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आप नीचे दिए गए हमारे लिंक पर क्लिक करके इसके बारे में पढ़ सकते हैं।

Online Share Trading कैसे करें?

जैसा कि हमने इसके बारे में पहले ही बताया है कि जब भी आप अपने लिए शेयर खरीदने के बारे में सोचते हैं। तो आपको सबसे पहले SEBI के आदेश एवं नियम अनुसार Demat account की आवश्यकता होती है।

वही जब अपने द्वारा खरीदे गए शेयर की खरीद बिक्री के बारे में सोचते हैं। तो यहां पर आपको एक Trading account की आवश्यकता होगी। यह ट्रेडिंग अकाउंट आप किसी broker के साथ खोलते हो। यहां पर यह सवाल आता है कि broker कौन होता है।

Broker शेयर बाजार पर रजिस्टर्ड एक मेंबर होता है। भारत में मुख्यता दो तरह के शेयर बाजार हैं, जिन्हें आप NSE (National Stock Exchange) और BSE (Bombay Stock Exchange) के नाम से जानते होंगे। Broker किसी भी Stock market का registered member होता है। जिसकी मदद से आप अपने द्वारा खरीदे गए शेयर को stock market पर खरीद बिक्री करते हो। इसके बदले में broker आपसे brokerage की वसूली करता है।

ट्रेडिंग और डीमैट खाता ऑनलाइन कैसे खोलें? – अब सिर्फ 15 मिनट में अकाउंट खोलें!

ट्रेडिंग और डीमैट खाता खोलना इन दिनों काफी सुविधाजनक है, और अलाइस ब्लू के साथ बहुत आसान है। वह कैसें?

निचे दिए गए विषयो के माध्यम से जानें!

विषय:

ट्रेडिंग और डीमैट अकाउंट कैसे बनाएं?

भारत में, आप ऑनलाइन या ऑफलाइन ट्रेडिंग और डीमैट खाता खोल सकते हैं। ऑफलाइन प्रक्रिया की तुलना में ऑनलाइन खाता खोलना कहीं अधिक सुविधाजनक और तेज है।

इसके साथ ही, आइए हम ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों खाता प्रक्रियाओं के बारे में विस्तार से जानें।

ट्रेडिंग और डीमैट खाता ऑनलाइन कैसे खोलें।

यदि आपका मोबाइल नंबर आधार से जुड़ा हुआ है, तो आप ऑनलाइन ट्रेडिंग और डीमैट खाता खोल सकते हैं।

ट्रेडिंग और डीमैट खाता खोलने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, हमारी वेबसाइट पर जाएँ और Open an Account पर क्लिक करें।
  • अपना नाम, ईमेल, मोबाइल नंबर और राज्य भरें और Open an Account पर क्लिक करें।
  • अपना पैन कार्ड विवरण और जन्म तिथि भरें। (जन्मतिथि पैन कार्ड के अनुसार होनी चाहिए)
  • उन उत्पादों का चयन करें जिनका आप व्यापार करना चाहते हैं और ₹500 का भुगतान करें।
  • अपना स्थायी पता विवरण दर्ज करें।
  • अपने बैंक खाते को ट्रेडिंग खाते से लिंक करें।
  • अपना व्यक्तिगत और वित्तीय विवरण दर्ज करें। अपलोड करें।
  • डीमैट प्रोफाइल और ब्रोकरेज योजना का चयन करें।
  • अपने चेहरे के साथ कैमरे की ओर अपना पैन दिखाकर एक IPV (इन-पर्सन वेरिफिकेशन) प्रदान करें।
  • अपने आधार को अपने मोबाइल नंबर से सत्यापित करके दस्तावेजों पर ई-हस्ताक्षर करें।
  • आपका खाता 24 घंटे के भीतर सक्रिय हो जाएगा।
  • आप यहां खाता सक्रियण स्थिति की जांच कर सकते हैं।

ट्रेडिंग और डीमैट खाता खोलने का शुल्क

  • खाता खोलने का शुल्क: ₹ 0/-
  • एएमसी (AMC) शुल्क: ₹400/- प्रति वर्ष।

एक बार जब आप खाता खोल लेते हैं तो आप शेयर खरीद सकेंगे लेकिन शेयरों को बेचने के लिए आपको पावर ऑफ अटॉर्नी ( POA) नामक एक दस्तावेज जमा करना होगा।

यह क्या है? जानने के लिए पढ़ते रहिये…

खाता खोलने की प्रक्रिया के बाद

पावर ऑफ अटॉर्नी (POA) एक सीमित स्तर की अनुमति है जो आप हमें (ब्रोकर) डीमैट खाते से शेयर डेबिट करने के लिए देते हैं जब भी आप शेयर बेचते हैं।

यदि आपने POA जमा नहीं किया है, तो आप सीडीएसएल टीपिन मोड (CDSL TPIN Mode) का उपयोग करके शेयर बेच सकेंगे। इस मॉडल में प्रति दिन अधिकतम ₹1 करोड़ की बिक्री और लेनदेन का प्रतिबंध है।

यदि आपके पास ₹ 1 करोड़ से अधिक का पोर्टफोलियो है और आप एक दिन में अपनी होल्डिंग से ₹ 1 करोड़ से अधिक स्टॉक बेचना चाहते हैं, तो आपको हमें POA भेजना होगा।

आपका खाता सक्रिय होने पर आपको डाक द्वारा POA फॉर्म प्राप्त होगा या आप यहां पीओए (POA) फॉर्म पा सकते हैं।

Vinayak Hagargi

Vinayak is Impressively Enthusiastic about Financial Markets, Research & Curating Layman-Friendly Content. He has been Successfully Contributing to the Financial Markets for over 2 years & has written over 100+ articles. He aims to continue sharing his knowledge to empower newbies with Relatable, & Easy to Understand Content.

Trading Account क्या होता है ?

अब हम देख लेते है ट्रेडिंग अकाउंट कौन कौन से इंडिया में , तो दोस्तों मै आपको बता देना चाहूंगा 50+ ट्रेडिंग अकाउंट है इंडिया में
जैसे ;- मोतीलाल ओसवाल , कोटक सिक्योरिटीज , ज़ेरोधा , एंजेल वन , iifl securities , और भी बहुत से ट्रेडिंग अकाउंट है

जो ऊपर आपको चित्र में दिख रहा है , वो ज़ेरोधा ट्रेडिंग अकाउंट का डैशबोर्ड है।

10 BEST Demat Account In India | भारत में 10 सबसे बेस्ट डीमैट अकाउंट

10 BEST Demat Account In India

पहले के समय में पेपर वर्क के माध्यम से शेयर खरीदने और बेचने की प्रक्रिया काफी मुश्किल होता था। इसी को दूर करने के लिए डीमैट अकाउंट (Demat Account) शुरू किया गया। डीमैट का मतलब ‘डीमैटरियलाइजेशन’ ‘dematerialization’ होता है। डीमैट अकाउंट (shares and securities) को डीमटेरियलाइज करता है, ताकि उन्हें इलेक्ट्रॉनिक रूप में रखा जा सके और कहीं से भी डिजिटल रूप में खरीदा और बेंचा जा सके।

आज के समय में डीमैट अकाउंट (Demat Account) के बिना, आप शेयरों की खरीद-विक्री नहीं कर सकते और ना ही ट्रैडिंग कर सकते हैं। क्योंकि वर्ष 1996 में, Securities and Exchange Board of India (SEBI) ने एक आदेश जारी किया था जिसमें कहा गया था कि सभी निवेशकों के पास शेयरों में ट्रैडिंग करने के लिए एक डीमैट अकाउंट होना अनिवार्य है।

ट्रेडिंग ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai? क्या है (What is Trading in Hindi)

ट्रेडिंग एक तरह का बिज़नस होता है किसी भी चीज़ को कम दाम में खरीदना और उसके दाम बढ़ जाने पर उसे बेच देना ट्रेडिंग कहलाता है. ट्रेडिंग का मुख्य उद्देश्य किसी भी चीज़ को खरीद कर कम समय में लाभ कमाना होता है, इसीलिए ट्रेडिंग सबसे ज्यादा शेयर मार्किट में की जाती है और लोग डेली शेयर पर ट्रेडिंग करके हजारों और लाखों रूपये कमाते है.

Stock Market Trading भी इसी ट्रेडिंग अकाउंट Kya Hai? तरह का होता है जहाँ हम किसी वस्तु को खरीदते और बिक्री में फायदा लेते हैं ठीक उसी तरह स्टॉक मार्केट में वस्तु की जगह कंपनियों के शेयर को खरीद और बिक्री करके प्रॉफिट कमाया जाता है, ट्रेडिंग का समय 1 साल होता है यानि कि 1 साल के अंदर शेयर को खरीदना और बेचना होता है लेकिन अगर एक साल के बाद खरीदे गये शेयर्स को बेचते हैं तो इसे निवेश कहा जाता है यह एक तरह का ऑनलाइन बेस्ड बिजनेस होता है.

ट्रेडिंग कैसे करें?

ट्रेडिंग करना बहुत ही आसान होता है, ट्रेडिंग करने के लिए आपके पास ट्रेडिंग अकाउंट एवं डिमैट अकाउंट होना चाहिए, क्युकी ट्रेडिंग अमाउंट एवं डिमैट अकाउंट के बिना आप ट्रेडिंग नही कर सकते हैं. उसके बाद आपको ट्रेडिंग अकाउंट की मदद से शेयर मार्केट से शेयर को कम दामों में खरीदना होता है और उस शेयर की कीमत बढ़ जाने पर उसे ज्यादा दाम में बेच कर मुनाफा कमाना होता है.

शेयर मार्केट ट्रेडिंग मुख्यतः 4 तरह की होती है?

इंट्राडे ट्रेडिंग (Intraday trading)

इंट्राडे ट्रेडिंग एक ऐसी ट्रेडिंग होती है जो एक ही दिन के अंदर की जाती है, इसमें एक ही दिन के अंदर शेयर्स को मार्केट में खरीदा और बेचा जाता हैं. एक ही दिन के अंदर की जाने वाली इस ट्रेडिंग को हम इंट्राडे ट्रेडिंग या फिर डे ट्रेडिंग भी कह सकते है.

आज आपने क्या सीखा?

हमे उम्मीद है कि हमारा ये (Trading kya hai in hindi) आर्टिकल आपको काफी पसन्द आया होगा और आपके लिए काफी यूजफुल भी होगा क्युकी इसमे हमने आपको ट्रेडिंग से रिलेटेड पूरी जानकारी दी है.

हमारी ये (Trading kya hai in hindi) जानकारी कैसी लगी कमेंट करके जरुर बताइयेगा और ज्यादा से ज्यादा लोगो के साथ भी जरुर शेयर कीजियेगा.

रेटिंग: 4.53
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 151
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *