ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए प्लेटफार्म

सुरक्षित खरीदारी के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग कैसे करें

सुरक्षित खरीदारी के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग कैसे करें
ट्रस्ट वॉलेट में पहले से ही बिट कॉइन, बिनांस, एथिरियम ऐड रहते है. आपको कोई दूसरा कॉइन या टोकन ऐड करने के लिए वॉलेट के स्क्रीन में ऊपर राईट साइड toggle sign पर टैप करना है. फिर आप कॉइन को लिस्ट में से ऐड कर सकते है या फिर ऊपर सर्च बॉक्स में टाइप करके सर्च कर सकते है. यहा पर कॉइन ऐड करने का मतलब हुआ कि जब भी आप ऐप ओपन करेंगे वो सारे कॉइन आपको दिख जायेंगे.

फ्री में Netflix यूज करने वालों के लिए बुरी खबर! लॉन्च हो गया नया फीचर, लेना होगा अपना सब्सक्रिप्शन

अब तक ऐसा होता था कि एक दोस्त नेटफ्लिक्स का सब्सक्रिप्शन लेता था और हम 6-7 दोस्त उसी के अकाउंट से नई मूवीज़ और वेब सीरीज़ का लुत्फ़ उठाते थे. पासवर्ड सिर्फ दोस्तों तक नहीं रहता था, बल्कि दोस्तों के दोस्तों तक भी पहुंच जाता था. फिर एक बार पासवर्ड मिल जाने के बाद जब तक उसे वो सुरक्षित खरीदारी के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग कैसे करें दोस्त बदल ना दे, हम अपना खुद का सब्सक्रिप्शन लेने का सोचते भी नहीं थे. लेकिन अब शायद आपको सोचना पड़ेगा. नेटफ्लिक्स की तरफ से एक नया फीचर लॉन्च किया गया है, जिससे कि यूजर्स को अपने अकाउंट से उन लोगों को रिमूव करने की सुविधा मिलेगी, जिनसे वो अपना अकाउंट शेयर नहीं करना चाहते.

क्या है ये नया फीचर?

Netflix का मानना है कि बाकी देशों के मुकाबले भारत में कहीं ज़्यादा लोग फ्री में नेटफ्लिक्स चलाते हैं. अकाउंटहोल्डर को इसकी जानकारी हो या ना हो, लोग फ्री में उनका नेटफ्लिक्स अकाउंट चला रहे होते हैं. ऐसे में सिंगल क्लिक में अपने अकाउंट से दूसरे यूजर्स को हटाने का फीचर ले आया है नेटफ्लिक्स. कंपनी ने एक ब्लॉग पोस्ट से इस फीचर को इंट्रोड्यूस किया है. Netflix के Account Setting ऑप्शन में एक नया फीचर जोड़ा गया है, जो यह पता लगा सकता है कि किस-किस डिवाइस में उनका अकाउंट लॉग इन किया गया है. इसके बाद अगर अकाउंटहोल्डर चाहे, तो वो उन डिवाइस को हटा सकता है जिनसे उसे अकाउंट शेयर नहीं करना.

लगा पाएंगे लॉगिन एक्टिविटी का भी पता

Netflix ना सिर्फ यूजर्स को हटाने के लिए नया फीचर लाया है, बल्कि अब इसके ज़रिए कौन कौन से डिवाइस में आपका अकाउंट चल रहा है, आप ये भी पता लगा सकते हैं. आमतौर पर तो हम दोस्तों और फैमिली के बीच ही पासवर्ड शेयर करते हैं, लेकिन आपने कभी कहीं बाहर से लॉग इन किया और लॉग आउट करना भूल गए हैं तो ये फीचर मददगार साबित हो सकता है.

Manage Access and Devices Menu के ज़रिये पता लगाया जा सकता है कि यूजर नेटफ्लिक्स अकाउंट कहां, कब और कौन सी डिवाइस पर चला रहा है. नेटफ्लिक्स ने कन्फर्म किया है कि नए फीचर को दुनियाभर में सभी Web, iOS और Android डिवाइस के लिए लागू कर दिया गया है.

Trust wallet क्या है? ट्रस्ट वॉलेट कैसे यूज करे?

Trust wallet क्या है (What is Trust wallet in Hindi) क्रिप्टो करेंसी या डिजिटल करेंसी कम समय में हाई रिटर्न और ज्यादा जोखिम के लिए जानी जाती है. कम समय में ज्यादा रिटर्न देने के कारण लोगो को रूचि इसमे बढ़ रही है और जैसे ही कोई क्रिप्टो लांच होता है तो लोग एक्सचेंज से खरीद लेते है. अब मान लेते है आपने बहुत से अलग क्रिप्टो को अलग अलग एक्सचेंज से ख़रीदा. तो उन क्रिप्टो को यूज करने के लिए आप क्रिप्टो एक्सचेंज पर निर्भर रहेंगे. और जैसे बैंक में भी आपका सारा पैसा सुरक्षित नहीं रहता है ठीक उसी तरह क्रिप्टो एक्सचेंज पर भी हैकिंग का खतरा रहता है.

तो अब उन क्रिप्टो को कही और सुरखित तरीके से स्टोर करने के लिए आपको क्रिप्टो वॉलेट की जरुरत पड़ेगी. ऐसा ही एक क्रिप्टो वॉलेट है-Trust Wallet. इस वॉलेट में आप किसी को भी क्रिप्टो भेज सकते है या फिर रिसीव कर सकते है. तो चलिए जानते है कि ट्रस्ट वॉलेट क्या है?

Trust Wallet kya hai-What is Trust Wallet in Hindi?

Trust Wallet एक Decentralized क्रिप्टो वॉलेट सॉफ्टवेर है जो आपको एक ही अकाउंट से बहुत से क्रिप्टो करेंसी को सुरक्षित तरीक से स्टोर करने और व्यापार करने की सुविधा देता है. इस वॉलेट में आप क्रिप्टो को स्टोर मैनेज, भेज और रिसीव कर सकते है बिना किसी मध्यस्थ के. ये ऐप आपको एक फ्रेज की (Phrase key) देता है जो एसेट को अनधिकृत पहुंच से दूर रखता है. .

Trust wallet 53 ब्लाकचेन और 1 मिलियन से भी ज्यादा डिजिटल करेंसी और टोकन को सपोर्ट करता है. जैसे कि Bitcoin, Binance Coin, Ethereum, Doge coin, Ripple, Bitcoin Cash, Litecoin आदि.

ट्रस्ट वॉलेट एक पुल के तरह काम करता है जो वॉलेट से जुड़े ब्लाक चेन्स को एक दूसरे से जोड़ता है. हर एक ब्लाक चेन का अलग पब्लिक एड्रेस का सेट होता है. इसी एड्रेस पर क्रिप्टो एन्क्रिप्ट होकर स्टोर होते है.

trust wallet के फीचर

  1. ट्रस्ट वॉलेट एक केन्द्रीकृत वॉलेट है जो आपके क्रिप्टोक्यूरेंसी वॉलेट की keys को एन्क्रिप्ट करता है.
  2. ये पूरी तरह से User controlled wallet है जिससे कि सारे क्रिप्टो फण्ड पर केवल यूजर का कण्ट्रोल होता है.
  3. ये वॉलेट यूजर का कोई भी फंड अपने पास नहीं रखता है, सब कुछ Blockchain पर सेव रहता है.
  4. ट्रस्ट वॉलेट से आप DApps (Decentralized apps) जैसे कि MCDEX, SushiSwap, PancakeSwap आदि को यूज कर सकते है.
  5. ये वॉलेट इनस्टॉल करने पर आपसे कोई भी निजी जानकारी नहीं मांगता है.
  6. ट्रस्ट वॉलेट प्रत्येक क्रिप्टो खरीदारी के लिए 1% शुल्क एकत्र करता है जिसका उपयोग ऐप के आगे विकास के लिए किया जा रहा है। आप Trust Wallet Token (TWT) को होल्ड करके इसे माफ कर सकते हैं ।
  7. ट्रस्ट वॉलेट उपयोग करने के लिए free है और इसे मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है । आप ऐप पर जो शुल्क देखते है, वह सभी Miners या उनके अपने संबंधित ब्लॉकचैन के सत्यापनकर्ताओं को भुगतान किया जाता है।

Trust wallet कैसे डाउनलोड करे

Trust wallet एप्पल स्टोर और गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है.

  • गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करने के लिए यहा क्लिक करे
  • एप्पल स्टोर वाले यहा क्लिक करे.

Trust wallet account कैसे बनाये?

Trust wallet account बनाना बहुत आसान है क्योंकि ये आपसे कोई भी निजी जानकारी जैसे ईमेल आई डी, नाम मोबाइल नंबर नहीं मांगता है.

  1. ट्रस्ट वॉलेट पर अकाउंट बनाने के लिए आपको ट्रस्ट वॉलेट ऐप डाउनलोड कर लेना है.
  2. ऐप ओपन करे और Create wallet पर क्लिक करे
  3. Agree वाले बॉक्स पर टिक करके Continue पर क्लिक कर दे.
  4. अब आपको Recovery phrase मिलेगा. जिसमे इंग्लिश के 12 words होंगे और हर words से पहले एक नंबर लिखा होगा. आपको ये वर्ड्स कॉपी कर लेना है या कही सुरक्षित जगह पर लिख लेना. ध्यान रहे यहा पर मोबाइल में स्क्रीनशॉट काम नहीं करता है.
  5. फिर Continue पर क्लिक करने के बाद Verify Recovery Phrase का आप्शन आएगा. जिसके बाद नंबर के अनुसार सारे वर्ड्स भरने है.
  6. अब आपका अकाउंट बन गया है.

ट्रस्ट वॉलेट कैसे यूज करे?

1. Trust wallet में कॉइन या टोकन कैसे ऐड करे-How to Add a Coin or Token in Trust Wallet

Trust wallet क्या है

ट्रस्ट वॉलेट में पहले से ही बिट कॉइन, बिनांस, एथिरियम ऐड रहते है. आपको कोई दूसरा कॉइन या टोकन ऐड करने के लिए वॉलेट के स्क्रीन में ऊपर राईट साइड toggle sign पर टैप करना है. फिर आप कॉइन को लिस्ट में से ऐड कर सकते है या फिर ऊपर सर्च बॉक्स में टाइप करके सर्च कर सकते है. यहा पर कॉइन ऐड करने का मतलब हुआ कि जब भी आप ऐप ओपन करेंगे वो सारे कॉइन आपको दिख जायेंगे.

2. Trust wallet में क्रिप्टो करेंसी कैaसे स्टोर करे या ट्रान्सफर करे?

  1. सबसे पहले ट्रस्ट वॉलेट में वो क्रिप्टो पर क्लिक करे
  2. फिर क्रिप्टो करेंसी के नीचे रिसीव पर क्लिक करे
  3. अब आपको QR कोड और एड्रेस दिखाई देगा.
  4. आप कॉपी पर क्लिक करके एड्रेस कॉपी करे
  5. जिस एक्सचेंज में आपकी क्रिप्टो है वहा पर जाकर रिसीविंग एड्रेस में पेस्ट कर दे. और फिर भेज दे.
  6. आपके ट्रस्ट वॉलेट में वो क्रिप्टो आ जायेगा.

नोट- याद रखे हर क्रिप्टो करेंसी का एड्रेस अलग अलग होता है. जैसे अगर आपको बिट कॉइन रिसीव करना है आपको उस एड्रेस पर एक्सचेंज से बिट कॉइन ही भेजना होगा. अगर आप बिट कॉइन का रिसीविंग एड्रेस कॉपी करके इस एड्रेस पर कोई दूसरा क्रिप्टो भेजते है वो क्रिप्टो हमेशा के लिए खो जायेगा.

ट्रस्ट वॉलेट क्यों यूज करे?

1. ये सुरक्षित है

ट्रस्ट वॉलेट कभी भी अपने यूजर के वॉलेट तक नहीं पहुंचते हैं।
Trust Wallet कभी भी कोई निजी जानकारी नहीं मांगते हैं
ट्रस्ट वॉलेट बटुए को एक बैकअप से आसानी से पुनर्प्राप्त करने की अनुमति देता है.

2,यूजर फ्रेंडली इंटरफ़ेस

उपयोगकर्ता को ध्यान में रखकर डिज़ाइन की गई कई उपयोगी सुविधाओं के साथ ट्रस्ट वॉलेट का उपयोग करना और समझना बहुत आसान है. ये हमेशा उपयोगकर्ता अनुभव को पहले रखते हैं।

सामान्य रूप से सिक्के/टोकन भेजने और प्राप्त करने के अलावा, ट्रस्ट वॉलेट और अधिक सुविधाएँ जोड़ रहे हैं जो विकेंद्रीकृत वित्त (Decentralized Finance) के भविष्य को आगे बढ़ाएंगे। इसमें DApps,, स्टेकिंग, Lending/Borrowing और विकेंद्रीकृत एक्सचेंज ( डीईएक्स ) तक पहुंच शामिल है।

Wallet Connect सॉफ्टवेर टीम द्वारा जारी नई सुविधाओं में से एक Open protocol है, एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन का उपयोग करके डेस्कटॉप डीएपी को मोबाइल वॉलेट से जोड़ने के लिए है।

3. ये आसानी से उपलब्ध और मुफ़्त है

मोबाइल डिवाइस या टैबलेट वाला कोई भी व्यक्ति ट्रस्ट वॉलेट ऐप यूज कर सकता है। यह आईओएस और एंड्रॉइड दोनों प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है। इनस्टॉल करने की कोई सीमा नहीं है, आप इसे कई डिवाइस पर भी यूज कर सकते हैं। यह उपयोग करने के लिए पूरी तरह से फ्हैरी और इसके लिए किसी प्रकार की सदस्यता की आवश्यकता नहीं है। ना ही भरने के लिए कोई पंजीकरण फॉर्म. आपका व्यक्तिगत डेटा आपके पास रहता है।

ट्रस्ट वॉलेट कोई शुल्क नहीं लेता है. जब आप लेन-देन भेजते हैं तो आपके वॉलेट से केवल एक ही गैस शुल्क लिया जाएगा। यह शुल्क Ethereum network पर Miners को भुगतान किया जाता है, जिन्हें आपके लेनदेन को प्रोसेस करने के लिए एक छोटे से फीस की आवश्यकता होती है।

4. वॉलेट का पूरा कण्ट्रोल आपके पास है

ट्रस्ट वॉलेट में आप पास कभी भी, कहीं भी अपने फंड को देख सकते है और आप जहां कही भी क्रिप्टोकरेंसी स्वीकार किए जाते हैं, वहां आप लेनदेन कर सकते हैं। आपको recovery phrase के साथ ये मोबाइल वॉलेट आपको अपने पोर्टफोलियो पर पूर्ण सुरक्षा और नियंत्रण प्रदान करता है।

5. बहुत से ब्लाक चेन का सपोर्ट

यह एक सिंगल प्लेटफार्म है जो कई अलग-अलग Blockchains को सपोर्ट करता है। ट्रस्ट वॉलेट द्वारा समर्थित कुछ प्रमुख सिक्के/टोकन यहां दिए गए हैं:

क्रिप्टोक्यूरेंसी आइंडिया

क्रिप्टोकरेंसी के बारे में विस्तृत जानकारी और कैसे खरीदें क्रिप्टोकरेंसी खरीदने के सबसे आसान तरीके ? शुरुआती के लिए क्रिप्टोक्यूरेंसी गाइड । क्रिप्टोक्यूरेंसी आइंडिया और अधिक। हम एक क्रिप्टो एक्सचेंज नहीं हैं।

क्रिप्टोक्यूरेंसी खरीदें

मैटिक नेटवर्क

Matic Network

MATIC, आपको Matic Network के बारे में क्या जानना चाहिए, Matic Network के साथ कैसे व्यापार करें? Matic Network क्या है? Matic कैसे खरीदें? मैटिक नेटवर्क समाचार। MATIC का व्यापार कैसे करें? शुरुआती के लिए गाइड।

ब्लॉकचैन के लिए मैटिक नेटवर्क एक साइड चेन आधारित एक्सटेंशन सॉल्यूशन हो सकता है। समर्थित प्लाज्मा तकनीक, मैटिक साइड चैन स्केलेबिलिटी के लिए ऑफर प्रदान करता है, जबकि उपयोगकर्ता अनुभव को ब्लॉकचैन की सुरक्षा के कारण भी सुनिश्चित करता है। द मैटिक नेटवर्क के लंबे समय तक टोकन उपयोग के उद्देश्य का समर्थन किया, हम देखते हैं कि परियोजनाओं की संख्या बढ़ने के कारण मैटिक के लिए खरीदारी करने की आवश्यकता बढ़ जाती है। यह मांग बढ़ रही है क्योंकि मैटिक नेटवर्क व्यापक है और अधिक से अधिक ऐप उनके समाधानों को एकीकृत कर रहे हैं। मैटिक एक उपयोगकर्ता वातावरण के साथ आता है जिसका उपयोग कंपनियां क्रिप्टोक्यूरेंसी में भुगतान करने के लिए कर सकती हैं या इस मुद्रा को भुगतान विधि के रूप में स्वीकार कर सकती हैं। Matic नेटवर्क का लक्ष्य फ्रेमवर्क के अनुकूलित संस्करण का उपयोग करके एक प्लेटफॉर्म का निर्माण करके ब्लॉकचेन स्केलिंग समस्या को सुलझाना है, इस प्रकार प्रदान किए जाने वाले तेज़ और बहुत ही किफायती लेनदेन के लिए एक उत्तर प्रदान करना है। मैटिक नेटवर्क उपयोगकर्ताओं और इसलिए विकेंद्रीकृत दुनिया के बीच बातचीत को सरल बनाने में विश्वास करता है।

आप विकेंद्रीकृत प्रणालियों का उपयोग करना बहुत आसान बनाना चाहते हैं जो किसी को भी जटिल प्रौद्योगिकियों को जानने के बिना घास में रोल कर सकते हैं जो उनके कार्यों को शक्ति देते हैं। कई परियोजनाएं पहले से ही मैटिक के साथ अनुप्रयोगों को एकीकृत करने पर प्रदर्शन कर रही हैं। इनमें गेमिंग प्लेटफॉर्म और परिसंपत्तियों के लिए बाज़ार शामिल है। पसंदीदा परियोजना क्रिप्टोकरेंसी के ग्रह के भागीदारों में से एक है। प्राथमिक परीक्षण नेटवर्क दो साल पहले शुरू हुआ था। सबसे शुद्ध का एक जटिल प्रारंभिक संस्करण पहले से ही आंतरिक रूप से पूरा किया जाना चाहिए। उपयोगकर्ता के अनुकूल बटुए को निकट भविष्य में जारी होने की भविष्यवाणी की जाती है। तकनीकी विश्लेषण से, ब्लू जोन के भीतर ब्रेक विशेष रूप से मैटिक नेटवर्क के लिए महत्वपूर्ण था।

इसने बाजार से एक महत्वपूर्ण प्रतिरोध को हटा दिया, जिसने बैल को खेल दिया। वर्तमान में, पाठ्यक्रम थकान के प्राथमिक संकेत दिखा रहा है और हमारे दृष्टिकोण से, सावधानी का सुझाव दिया गया है। प्रमुख प्रतिरोध हाल के उच्च स्तर पर है। एक समतुल्य समय में, मैटिक ने तब से खुद को कठोर वास्तविकता के भीतर पाया है जिसके दौरान निवेशकों, उपयोगकर्ता की स्वीकृति और सार्वजनिक ध्यान के लिए क्रिप्टोकरेंसी प्रतिस्पर्धा करते हैं। सुरक्षित और लेन-देन के आदर्श वाक्य के तहत, Matic www.buycryptocoin.net पर बाजार पूंजीकरण द्वारा सबसे महत्वपूर्ण क्रिप्टोकरेंसी के निचले हिस्से में है। Matic का कोर्स आउटलेर्स को जानता है, लेकिन पिछले साल एक सौम्य उर्ध्व प्रवृत्ति की विशेषता थी। Matic Network खरीदने का तरीका जो कोई भी Matic Network के लिए खरीदारी करना चाहता है, उसे पता होना चाहिए कि Matic वर्तमान में केवल क्रिप्टो एक्सचेंजों पर अन्य क्रिप्टोकरेंसी के खिलाफ कारोबार किया गया है। इसलिए डॉलर के लिए मैटिक खरीदने के लिए धन्यवाद नहीं हैं। इसलिए, हम www.buycryptocoin.net & Binance से Matic खरीदने की सलाह देते हैं, जो दुनिया भर में सबसे महत्वपूर्ण क्रिप्टो एक्सचेंजों में से एक है। उदाहरण के लिए बिटकॉइन के खिलाफ मैटिक का कारोबार होता है।

जमा किए गए बिटकॉइन के साथ आप बस फिर मैटिक खरीद लेंगे। वॉलेट फॉर मैटिक कोई भी व्यक्ति जो वित्तीय निवेश के लिए एक साधन के रूप में मैटिक जैसी क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग करता है, उसे खुद से पूछना चाहिए कि वे अपने सिक्कों को कैसे सुरक्षित रखेंगे। सिद्धांत रूप में, कुछ विकल्प हैं: एक सॉफ्टवेयर वॉलेट और एक हार्डवेयर वॉलेट। यह विधि यह सुनिश्चित करती है कि क्रिप्टोकरंसी को एक्सेस करने के लिए आवश्यक जानकारी ऑनलाइन संग्रहीत न की जाए ताकि साइबर अपराधियों पर हमले का कोई मतलब न हो। इसलिए क्षति से परिरक्षित होने के लिए, कागज के बटुए को अक्सर धातु पर उत्कीर्णन के रूप में भी बनाया जाता है। लेकिन जब इसमें एक दिन के लिए मैटिक और अन्य altcoins ट्रेडिंग करना या भुगतान के तरीके के रूप में उपयोग करना शामिल है, तो वॉलेट अपनी सीमा तक पहुंच जाता है। क्योंकि सामान्य सार्वजनिक और व्यक्तिगत कुंजी के लंबे तारों के भीतर टाइप करने में समय और तंत्रिकाओं का समय लगता है।

Buy MATIC

मैटिक नेटवर्क

Matic Network एक ब्लॉकचेन स्केलेबिलिटी प्लेटफ़ॉर्म है जो PoS साइड चेन और एक अनुकूलित संस्करण द्वारा संचालित सुरक्षित, स्केलेबल और तत्काल लेनदेन प्रदान करता है।

भास्कर एक्सप्लेनर: कैसा होगा RBI का 'डिजिटल रुपया', क्या ये लेगा बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी की जगह? जानिए सब कुछ

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2022 में डिजिटल रुपया लॉन्च करने की घोषणा की है। यह सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी, यानी CBDC होगी। RBI इस डिजिटल करेंसी को नए वित्त वर्ष की शुरुआत में लॉन्च करेगा। डिजिटल रुपया, या CBDC को डिजिटल इकोनॉमी के लिए बड़ा कदम माना जा रहा है। साथ ही भारत इस तरह से आधिकारिक तरीके सुरक्षित खरीदारी के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग कैसे करें से अपनी डिजिटल करेंसी लॉन्च करने वाला पहला बड़ा देश बन जाएगा।

ऐसे में आइए जानते हैं कि CBDC क्या है? सरकार को इसकी जरूरत क्यों पड़ी? आम लोगों के लिए यह कितना सुरक्षित और फायदेमंद होगा?

सवाल : डिजिटल करेंसी CBDC को कौन लॉन्च करेगा?

जवाब : RBI, जानिए कैसे होगी इसकी लॉन्चिंग.

  • रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया, यानी RBI नए फाइनेंशियल ईयर में CBDC को लॉन्च करेगा। नई करेंसी ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर आधारित होगी।
  • RBI की ओर से डिजिटल फॉर्म में जारी CBDC एक लीगल टेंडर होगा। सेंट्रल बैंक से जारी करेंसी की तरह ही CBDC भी होगा, लेकिन इसे नोट की तरह आप अपने जेब में नहीं रख सकेंगे।
  • यह करेंसी की तरह ही काम करेगा। साथ ही CBDC को नोट के साथ बदला भी जा सकेगा। यह इलेक्ट्रॉनिक रूप में आपके अकाउंट में दिखाई देगी।
  • RBI की रिपोर्ट में पहले बताया गया था कि CBDC से आप कैश के मुकाबले आसानी से और सुरक्षित तरीके से कहीं पर भी खरीदारी कर सकेंगे।

सवाल : क्या यह क्रिप्टोकरेंसी जैसी होगी?

जवाब : नहीं, तो फिर कैसी होगी, आइए जानते हैं…

  • CBDC क्रिप्टोकरेंसी नहीं है। भारतीय रिजर्व बैंक का CBDC एक लीगल टेंडर होगा।
  • इसे RBI जारी करेगा, इसलिए इसमें जोखिम नहीं होगा। इससे देश में आसानी से खरीदारी हो सकेगी।
  • ये प्राइवेट वर्चुअल करेंसी बिटकॉइन से एकदम अलग होगी।
  • प्राइवेट वर्चुअल करेंसी के साथ कई तरह की बाधाएं होती हैं और बिटकॉइन जैसी इन करेंसीज को सभी देशों में मान्यता नहीं मिली है।
  • साथ ही प्राइवेट वर्चुअल करेंसी के किसी सरकार से नहीं जुड़े होने की वजह से इसमें जोखिम बहुत ज्यादा होता है।
  • प्राइवेट वर्चुअल करेंसी कमोडिटी नहीं हैं। साथ ही इनका कोई आंतरिक मूल्य भी नहीं होता है।

सवाल : क्या बिटकॉइन की ही तरह यह भी जोखिम भरी करेंसी होगी?

जवाब : नहीं, जानिए CBDC कितनी सुरक्षित है।

इन्वेस्टोपीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, सरकार का लक्ष्य आम लोगों को एक लीगल और सुविधाजनक डिजिटल करेंसी मुहैया कराना है, ताकि उन्हें सुरक्षा संबंधी किसी समस्या का सामना नहीं करना पड़े।

सरकार की बजट में डिजिटल करेंसी की घोषणा बिटकॉइन और ईथर जैसी अन्य क्रिप्टो और वर्चुअल करेंसी को लेकर मंशा को व्यक्त करती है। RBI कई मौकों पर बिटकॉइन को लेकर चिंता जता चुका है, क्योंकि बिटकॉइन, ईथर जैसी क्रिप्टोकरेंसी के साथ मनी लॉन्ड्रिंग, टेरर फाइनेंसिंग, टैक्स चोरी जैसा खतरा बना रहता है।

ऐसे में इसका इस्तेमाल आतंकवादी संगठन भी कर सकते हैं। इसलिए RBI ने अपनी खुद की डिजिटल करेंसी CBDC लाने की योजना की घोषणा की है।

सवाल : क्या सीबीडीसी अन्य डिजिटल पेमेंट्स से ज्यादा अच्छा है?

जवाब : हां, जानिए कैसे…

मान लीजिए आप एक यूपीआई सिस्टम से अपने बैंक अकाउंट के बजाय CBDC से सुरक्षित खरीदारी के लिए क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग कैसे करें लेनदेन करते हैं। इसमें कैश को हैंड ओवर करते ही इंटरबैंक सेटलमेंट की जरूरत नहीं रह जाती। इससे पेमेंट्स सिस्टम से लेनदेन ज्यादा रियल टाइम में और कम लागत में होगा। इससे भारतीय आयातक बिना किसी बिचौलिए के अमेरिकी निर्यातक को रियल टाइम में डिजिटल डॉलर का भुगतान कर सकेंगे।

सवाल : क्या RBI इसे सीधे लॉन्च कर सकेगा?

जवाब : नहीं, जानिए क्या कानूनी प्रक्रिया पूरी करनी होगी…

आरबीआई भले ही इसे लॉन्च करने को तैयार है। लेकिन यह तब तक नहीं हो सकेगा जबतक कि संसद में क्रिप्टो कानून पारित नहीं हो जाता। क्योंकि भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम के तहत मौजूदा प्रावधान मुद्रा को भौतिक रूप से ध्यान में रखते हुए बनाए गए हैं। इसके परिणामस्वरूप सिक्का अधिनियम, विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (FEMA) और इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट में भी संशोधन की आवश्यकता होगी।

सवाल : क्या सीबीडीसी के आने से बैंकों पर असर पड़ेगा?

जवाब : हां, जानिए किस तरह का असर होगा…

सीबीडीसी के आने से बैंक में जमा के लिए लेनदेन की मांग कम होगी। साथ ही सेटलमेंट रिस्क भी कम होगा। रिस्क फ्री होने के चलते सीबीडीसी बैंक डिपॉजिट को कम करेगा। साथ ही जमा पर सरकारी गारंटी में कटौती करेगा। वहीं यदि बैंक जमा राशि खो देते हैं, तो क्रेडिट बनाने की उनकी क्षमता सीमित हो जाएगी। क्योंकि केंद्रीय बैंक निजी क्षेत्र को लोन प्रदान नहीं कर सकते हैं।

सवाल : क्या अमेरिका, चीन और UK की अपनी डिजिटल करेंसी है

जवाब : नहीं, आइए जानते हैं किन देशों के पास अपनी खुद की डिजिटल करेंसी है।

CBDC किसी भी देश की आधिकारिक करेंसी का इलेक्ट्रॉनिक रिकॉर्ड या डिजिटल टोकन होगा। यह पैसों के लेनदेन, आवश्यक सामानों की खरीदारी के पेमेंट्स में भी काम आएगा।

दिसंबर 2021 तक 87 देश (जिनकी वैश्विक GDP में 90% से अधिक की हिस्सेदारी है) CBDC के बारे में रिसर्च कर जानकारी जुटा रहे थे। इनमें से 35 देश मई 2020 में CBDC लाने के प्रोजेक्ट पर विचार कर रहे थे।

इनमें से 9 देश पहले ही CBDC को पूरे तरीके से लॉन्च कर चुके हैं। इनमें बहामास, 7 इस्टर्न कैरिबियन और नाइजीरिया शामिल हैं। कैरिबियन देशों से बाहर नाइजीरिया ने भी हाल में अपनी CBDC ई-नायरा लॉन्च की है। हालांकि, 4 सबसे बड़े केंद्रीय बैंकों (अमेरिका, यूरोप, जापान और UK) वाले प्रमुख देश अपनी CBDC लॉन्च करने में सबसे पीछे हैं।

चीन और दक्षिण कोरिया सहित 14 देश ऐसे हैं जो अब अपने CBDC के साथ प्रायोगिक चरण में हैं और जल्द ही इसे लॉन्च करने की तैयारी कर रहे हैं।

सवाल : क्या डिजिटल करेंसी आम लोगों के लिए फायदेमंद साबित होगी?

जवाब : हां, जानिए कैसे।

डिजिटल करेंसी आने से सरकार के साथ आम लोगों और बिजनेस के लिए लेनदेन की लागत कम हो जाएगी। जैसे UAE में एक वर्कर को सैलरी का 50% हिस्सा डिजिटल मनी के रूप में मिलता है। इससे ये लोग अन्य देशों में मौजूद अपने रिश्तेदारों को आसानी से और बिना ज्यादा शुल्क दिए पैसे भेज सकते हैं।

वर्ल्ड बैंक का अनुमान है कि अभी इस तरह दूसरे देशों में पैसे भेजने पर 7% से अधिक का शुल्क चुकाना पड़ता है, जबकि डिजिटल करेंसी के आने से इसमें 2% तक की कमी आएगी। इससे लो इनकम वाले देशों को हर साल 16 अरब डॉलर (1.2 लाख करोड़ रुपए) से ज्यादा पैसे मिलेंगे।

घर को ध्वनि प्रदूषण से सुरक्षित रखने के लिए अपनाए जा सकते हैं ये तरीके

घर को ध्वनि प्रदूषण से सुरक्षित रखने के लिए अपनाए जा सकते हैं ये तरीके

घर में ध्वनि प्रदूषण होने से सिर्फ हमारी सुनने की क्षमता ही प्रभावित नहीं होती है, बल्कि इससे स्लीप साइकिल और वर्क फ्रॉम होम वाले लोगों के काम की उत्पादकता (work productivity) पर भी नकारात्मक असर पड़ सकता है। यह प्रदूषण वयस्कों के साथ-साथ बच्चों के स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकता है। ऐसे में अगर आप घर को ध्वनि प्रदूषण से सुरक्षित रखना चाहते हैं तो इस लेख में बताए जाने वाले तरीकों को आजमाकर देंखे।

अगर आपका घर ऐसे जगह पर है, जहां अधिक ध्वनि प्रदूषण या भारी वाहनों की आवाजाही है तो घर की दीवारों, दरवाजों और खिड़कियों को साउंडप्रूफ बनाने की कोशिश करें। आजकल बाजार में कई तरह की साउंडप्रूफ शीट्स मौजूद हैं, जिनमें निवेश करके आप अपने दरवाजों और खिड़कियों को ध्वनि प्रदूषण से कुछ हद तक सुरक्षित रख सकते हैं। इसके अतिरिकत दीवारों की मोटाई घर को ध्वनि प्रदूषण से बचा सकती है।

बाहरी शोर को घर में आने से रोकने के लिए बालकनी, आंगन और घर के आस-पास ज्यादा से ज्यादा पौधे लगाएं। इसका कारण है कि पौंधों के तने, पत्तियां और शाखाएं ध्वनि को अवशोषित करने में प्रभावी होती हैं। इसके अलावा पौधे घर की हवा को शुद्ध करने में मदद कर सकते हैं, जिससे हमारे स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसी तरह पौधे लगाने से घर की सजावट भी बढ़ती है और वह घर को सुखद दृश्य देते हैं।

यहां कपड़ों की लेयरिंग से मतलब है कि अपने घर के फर्श को रग या कालीन और खिड़कियों को परदों से कवर करें। इससे आपको अपने घर से ध्वनि प्रदूषण को दूर करने में मदद मिल सकती है। ध्यान रखें कि आजकल बाजार में कई तरह के रग, कालीन और परदें मौजूद हैं, लेकिन आप सिर्फ मोटे रग, कालीन और परदों में ही निवेश करें।

फर्नीचर का उपयोग करके भी घर को बाहरी ध्वनि प्रदूषण से सुरक्षित रखा जा सकता है। उदाहरण के लिए आप लंबे बुकशेल्फ का उपयोग कर सकते हैं या दीवारों पर पैनलिंग बना सकते हैं। बुकशेल्फ या पैनलिंग को उस स्थिति में रखें, जहां से आपका घर सबसे अधिक शोर के संपर्क में आता हो। इसके अलावा अपने घर में सोफे और भारी कुर्सियां भी रखें। ये भी ध्वनि को अवशोषित करने में मदद कर सकती हैं।

रेटिंग: 4.68
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 106
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *