शेयर ट्रेडिंग

2023 के सबसे सस्ते शेयर कौन से है?

2023 के सबसे सस्ते शेयर कौन से है?

RailTel: रेलवे की इस कंपनी के शेयरों में जबरदस्त मुनाफा, केवल एक महीने में 29 फीसद का इजाफा

इंडियन रेलवे द्वारा समर्थित RailTel के शेयरों में पिछले कई दिनों से तेजी देखी जा रही है। तीन महीने से इसके शेयर बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। दूसरी तिमाही में रेलटेल का समेकित शुद्ध लाभ लगभग 55.24 करोड़ था। इससे शेयरों को मजबूती मिली है।

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारतीय रेलवे की पूर्ण स्वामित्व वाली कंपनी रेलटेल के शेयर इन दिनों चर्चा में हैं। रेलटेल कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया ने स्टॉक एक्सचेंज पर 52 सप्ताह का नया उच्च स्तर हासिल किया है। मुनाफे में सुधार के साथ राजस्व के मोर्चे पर अच्छी बढ़त दर्ज करने के बाद निवेशक कंपनी को लेकर उत्साहित हैं।

रेलटेल के शेयर गुरुवार को बीएसई पर 140 से नीचे ट्रेड कर रहे हैं। हाल के दिनों में इसने निवेशकों को दो अंकों में रिटर्न दिया है। तीन महीनों में स्टॉक में लगभग 38 फीसद की तेजी आई है। अकेले मंगलवार को स्टॉक में 10 फीसद से अधिक की वृद्धि हुई। वित्त वर्ष 2023 की दूसरी छमाही के लिए रेलटेल के मजबूत मार्केट प्राइज को लेकर विश्लेषक आशावादी हैं और उन्होंने स्टॉक में खरीदारी का सुझाव दिया है।

Some foreign companies keen to bring hyperloop tech to India says Niti Member VK Saraswat

एक महीने में 29 फीसद का इजाफा

बीएसई पर रेलटेल का शेयर मंगलवार को 52-सप्ताह के उच्च स्तर 137.70 पर पहुंचकर 10% से अधिक चढ़ गया। फिलहाल इसका मार्केट कैप करीब 4,4000 करोड़ के आसपास है। दलाल स्ट्रीट पर एक महीने में रेलटेल के शेयर करीब 29 फीसदी चढ़ चुके हैं। शेयरों ने अब तीन महीने में कम से कम 37.9% लाभ दिया है। आपको बता दें कि इसके स्टॉक की कीमत 16 अगस्त, 2022 को 100 रुपये से कम थी। साल-दर-साल आधार पर देखें तो स्टॉक में लगभग 18% की वृद्धि हुई है।

Gold Price Today: Check Rates in Delhi, Noida, Chandigarh, Ghaziabad, Mumbai, Bangalore and other cities

कैसी है कंपनी की बैलेंस शीट

दूसरी तिमाही में रेलटेल का कुल शुद्ध लाभ लगभग 55.24 करोड़ था। Q1FY23 में कंपनी का लाभ 25.85 करोड़ था, यानी इसमें दोगुने से भी अधिक की बढ़ोतरी हुई है। रेलटेल का एबिटा 8.6 फीसद था। निवेशकों ने कंपनी को पॉजिटिव रेटिंग दी है। मुंबई में अपनी स्वतंत्र ब्रोकरेज फर्म चलाने वाले रजिस्टर्ड ब्रोकर अनुभव दयाल का मानना है कि कंपनी के शेयरों में आगे भी उछाल रहने की उम्मीद है।

Book Train Ticket from IRCTC AskDISHA Chatbot (Jagran File Photo)

(यह जानकारी सामान्य सूचनाओं पर आधारित है। निवेश करते समय अपने विवेक का इस्तेमाल करें।)

Entertainment

Share Market Information in Hindi 2023 | शेयर बाजार क्या है हिंदी में जानकारी 2023

दोस्तों शेयर बाजार (Share Market) स्टॉक एक्सचेंज का वह हिस्सा है जहां शेयर या स्टॉक (stock) का कारोबार होता है। शेयर बाजार को इक्विटी (equity)बाजार के रूप में भी जाना जाता है. यहां सिर्फ उसी कंपनी के शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं जो शेयर बाजार में लिस्ट होते हैं। एक तरह से आप इन … Read more

इथेनॉल के बारे में जानकारी (What is Ethanol in Hindi)

दरसल इथेनॉल शुगर प्रोडक्शन के दरम्यान जो बायप्रोडक्ट बनता है इसपे प्रक्रिया करके बनाई जाती हैं। इस आर्टिकल में हम आपको इथेनॉल और Ethanol Companies Stock in India इस विषय के बारें 2023 के सबसे सस्ते शेयर कौन से है? में विस्तृत जानकारी देंगे।

भारत सरकार ने हाल ही में पेट्रोल में इथेनाल का प्रतिशत बढ़ाने को उसके निर्माण को लेकर कई बातें बताई थी। अगर गाड़ियों में लगनेवाले इंधन कि बात करें तो यह ज्यादातर अरब देशों से इम्पोर्ट करना पड़ता हैं इसके लिये सरकार को इसके लिये काफी पैसा खर्च करना पड़ता हैं। इसलिये सरकार ने साल 2025 तक पेट्रोल में 20% तक इथेनॉल मिलाने का लक्ष भी रखा हैं। यह महत्त्वपूर्ण भी हैं क्योंकी आगे जाके गाड़ीयों का इंधन इतना महंगा हो जायेगा की इसका अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता अगर आज के बढ़ते हुयें इंधनों कि किमतो पर नजर डालें। अगर इथेनाॅल कि बात करें तो यह अब बनायेंगी शुगर फॅक्टरीज जो कि गन्ने पर प्रोसेस करने के बाद बनता हैं।

अगर आप शेयर मार्केट में नये हैं तो हमारा शेअर मार्केट का गणित और शेयर मार्केट में ट्रेडिंग कैसे करें यह आर्टिकल भी अवश्य पढ़ें।

इथेनॉल इस्तमाल के फायदें ? (Ethanol Benefits)

इंधनों में इथेनॉल इस्तमाल करने के बहुतसारे फायदें हैं जिसमें से कुछ महत्त्वपूर्ण देखते हैं

अन्य बायोफ्युल कि तुलना में यह काफी सस्ता हैं।

ग्लोबल वार्मिंग कम करने के लिये यह काफी उपयोगी हो सकता हैं।

इससे काफी लोगों को रोजगार मिल सकता हैं।

ऍग्रीकल्चर सेक्टर को इससे बढवा मिलने में मदत होगी।

यह हायड्रोजन निर्माण में भी मदत करता हैं।

यह रिनवेबल एनर्जी में गिना जाता हैं।

Ethanol Companies Stock in India hindi

इथेनॉल से रिलेटेड और भी महत्वपूर्ण चींजे ( Other Factors)

परसों सरकार में शामिल मिनिस्टर नितीन गडकरीजीने इथेनॉल के प्रोडक्शन को लेकर कई बातें की हैं इसलिये आनेवाले समय में इथेनॉल कि डिमांड काफी बढ़नेवाली हैं। कई शुगर फैक्ट्री ने तो इसके निर्माण को लेकर प्रक्रिया भी चालु कर दि हैं। अगर गन्ने कि खेती करनेवाले लोग को कि बात करें तो हर साल गन्ने कि फसलों को अच्छे दाम न मिलने के कारण आंदोलन चलते रहते हैं इसलिये अगर इथेनॉल का निर्माण चालु होता है तो इससे किसानों को भी फायदा हो सकता है गन्ने के दाम में बढ़ोतरी भी देखने को मिल सकती हैं। अगर देखा जाये तो भारत फिलहाल 85% से भी ज्यादा इंधन बाहर के देशों से इंम्पोर्ट करता हैं इथेनाॅल के निर्माण और इस्तेमाल से इसमें कमी आ सकती हैं इससे देश का पैसा भी बचेगा।

सरकार का लक्ष है कि अगले 2 साल तक बाहर से मंगानेवाले फ्युल में कमी आयें उसपर होनेवाली निर्भरता कम हों। इथेनॉल निर्माण से शुगर फॅक्टरीज, इंडस्ट्रीज को बहुत फायदा भी होगा और सरकार ने हर शुगर इंडस्ट्री के लिये इथेनाल का निर्माण करना बंधकारक भी करनेवाली है।

इसलिये अगर इन सभी बातों पर ध्यान दें तो इथेनॉल निर्माण करनेवाली कंपनीयों का बिजनेस और ग्रोथ बहुत तेजी से होनेवाली हैं इसलिये आज हम आपको भविष्य के हिसाब से आज इथेनॉल के कुछ स्टाॅक्स कि जानकारी देनेवाले हैं चलिये जानते हैं Ethanol Companies Stock in India के बारे में।

बेहतरीन इथेनॉल स्टाॅस जिसे आप खरिद सकतें हैं? ( Best Ethanol Stocks in India)

Triveni Engineering:

जो भी कंपनीया इथेनाॅल निर्माण करना चाहती है और प्लांट सेटअप करती है उनके लिये ब्लेंडिंग का निर्माण करती हैं।

यह कंपनी को फ्युचर कि नजर से देखें तो यह सबसे बेहतर कंपनी हैं इसका कारण है कि यह कंपनी इसमें मार्केट लिडर कि नजर से जानी जाती हैं। यह शुगर, इथेनॉल, पावर ट्रांसमिशन, वाटर ट्रीटमेंट में भी काम करती हैं।

यह मार्केट लिडर हैं अगर इथेनॉल कि नजर से देखें तो यह स्टाॅक सबसे बढ़िया स्टाॅक्स देखने को मिल रहा हैं। अगर आप लंबे नजर के अवधी के लिये निवेश करना चाहते हैं तो इस स्टाॅक के ऊपर आपको निवेश करने कि सोचनी चाहिये।

Praj Industries:

अगर इस कंपनी कि बात करें तो यह एक इथेनॉल प्लांट का सप्लायर करती हैं। यह दुनिया कि एक जानीमानी कंपनी हैं अगर बात करें बायोबेस्ड टेक्नालॉजी और इंजिनियरिंग में। यह कंपनी पानी शुद्धता उपकरण, ब्रुअरिज के साथ साथ और भी क्षेत्रों में अग्रेसर हैं। इसका मुख्यालय पुणे में स्थित हैं। प्राज इंजिनियरिंग ने सभी पांच महादिप , सौ से ज्यादा देश में अपना विस्तार किया हैं। बाकी शुगर इंडस्ट्री कि तुलना में इसकी मार्केट कैंप काफी ज्यादा है। रिटर्न्स ऑन इन्वेस्टमेंट और डिविडेंड भी अच्छा है अगर इसके ट्रेक रेकाॅर्ड कि बात करें तो।

यह फि इथेनॉल संबंधित महत्वपूर्ण कंपनी होने के कारण इसका शेयर प्राइस भी बहुत ऊपर जाने के चान्सेस हैं।

Bharat Petroleum Corp ltd:

यह शेअर मार्केट में BPCL के नाम से भी जाना जाता 2023 के सबसे सस्ते शेयर कौन से है? है और इसने इन्वेस्टटर्स को काफी अच्छे रिटर्न्स कमा कर दिये हैं। इस कंपनी का कहना है को जो भी पेट्रोलियम प्रोडक्ट वह बनाती है उसमें 2025 तक 20% तक इथोनाॅल का इस्तमाल करेगीं। इससे पहले भी इस कंपनी ने इनेवस्टर्स को रिटर्न्स दिये हैं और आगे जाके भी इसमे बहुत ग्रोथ कि संभावना दिख रही हैं।

Dalmia bharat, Balrampur Chini, Shree Renuka Sugar:

अगर शुगर इंडस्ट्री कि बात करें तो हमें सेक्टर लिडर कि या उसमें टाॅप पर रहनेवाली कंपनीयों के बारे में ज्यादा ध्यान देना चाहिये। दालमिया भारत, श्री रेणुका शुगर और बलरामपुर चिनी उसी में से यह तीनों कंपनीया शुगर इंडस्ट्री कि हैं जिन्हें आप इन्वेस्टमेंट के लिये सोच सकते हैं।

अगर बात करें अब के इंधनों कि किमत कि तो यह दिनबदिन बढते ही जा रहे हैं। अगर इथेनाॅल का प्रतिशत बढ़ जाता है तो सरकार बाहरी देशों से एम्पोर्ट पे रोक लग सकती है और हमारा रुपया मजबुत हो सकता हैं। इसलिये इथेनॉल का इस्तमाल बढाना जरुरी हो चुका है और यह धीरे धीरे होने भी लग रहा हैं। अगर आप एक लंबे अवधीवाले इन्वेस्टमेंट में है तो आपको इन शेयरों पर जरुर ध्यान देना होगा शेयर खरिदने से पहले आप अपनी रिसर्च जरुर करें यह आर्टिकल सिर्फ आपकी जानकारी और एज्युकेशन के लिये हैं।

अगर आपको हमारा Ethanol Companies Stock in India यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर जरुर करें और अगर कोई सवाल और सुझाव हो तो हमें अवश्य लिखें ।

FAQ

Q: इथेनॉल कैसे बनता हैं?

Ans: शुगर तयार करते वक्त जो बात प्रोडक्ट रहता है उसपे प्रक्रिया करके इथेनॉल बनता हैं.

Q: इथेनॉल पर आधारित कौन कौन सी कंपनीया हैं?

Ans: त्रिवेणी इंजि, प्राज इंडस्ट्रीज, बलरामपुर चिनी, दालमिया भारत, बीपीसीएल, रेनुका शुगर.

Q: साल 2025 तक कितने प्रतिशत तक इथेनॉल इंधनों में इस्तमाल होगा?

Q: इथेनॉल के इस्तमाल से किस किस का फायदा होगा?

Ans: इससे किसान, शुगर इंडस्ट्री मालक और एग्रीकल्चरल सेक्टर का फायदा होगा.

10 रुपये से कम कीमत वाले इन शेयरों ने 2017 में दिया 750% रिटर्न

घरेलू शेयर बाजार मे जबर्दस्त तेजी के चलते इस साल कुछ अनजानी कंपनियों के शेयरों ने भी शेयर बाजार पर कमाल कर दिया.

10 रुपये से कम कीमत वाले इन शेयरों ने 2017 में दिया 750% रिटर्न

सांवरिया कंज्यूमर ने इस सूची में 757 फीसदी का रिटर्न देकर बाजी मारी है. 2 जनवरी से 4 दिसंबर के बीच कंपनी के शेयरों ने 2.55 रुपये से 21.85 रुपये का सफर तय किया है. इस कंपनी को पहले सांवरिया एग्रो ऑयल्स के नाम से जाना जाता था.

एफएमसीजी की यह कंपनी फूड प्रोसेसिंग में काफी सक्रिय है. इसके अलावा कंपनी चावल, खाद्य तेल, दाल, चीनी, सोया और गेहूं के आटे को बनाने के साथ ही बिक्री करती है.

top-penny-stocks

मानकसिया स्टील और पैरामाउंट कॉम्युनिकेशंस ने भी क्रमश: 379 फीसदी औऱ 271 फीसदी की छलांग लगाई. मानकसिया स्टील के शेयरों की कीमत 2 जनवरी से 4 दिसंबर के बीच 8.85 रुपये से 42.40 रुपये तक पहुंची, 2023 के सबसे सस्ते शेयर कौन से है? जबिक पैरामाउंट ने भी 3.30 रुपये से 12.25 तक की तेजी दिखाई.

मार्केट सलाहकारों का मानना है कि जो लोग जोखिम 2023 के सबसे सस्ते शेयर कौन से है? कम करना चाहते हैं, उन्हें पैने शेयरों से दूरी ही रहना चाहिए. इन शेयरों में काफी ज्यादा अस्थिरता होती है और इनकी कीमत तेजी से ऊपर-नीचे करती है. यदि ये बड़ा रिटर्न दे सकते हैं, तो दूसरी तरफ पूरी रकम भी डूबो सकते हैं.

इसेक अलावा टेकइंडिया निर्माण, मैग्नम वेंचर्स, रतनइंडिया इंफ्रा, जीवीके पावर एंड इंफ्रास्ट्रक्चर, सिनेविस्टा और ओरियंटल ट्रिमेक्स के शेयर क्रमश: 243 फीसदी, 242 फीसदी, 213 फीसदी, 171 फीसदी, 153 फीसदी, 153 फीसदी तक चढ़े.

4

जीवीके पावर एंड इंफ्रास्ट्रक्चर ने हाल ही में सितंबर तिमाही के दौरान 76.94 करोड़ रुपये के नेट लॉस की घोषणा की थी. पिछले वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में कंपनी का नेट लॉस 13.41 करोड़ रुपये का था.

सीसीसीएल, संभव मीडिया, सोमा टैक्सटाइल्स, इंडोविंड एनर्जी, आईएसएमटी, नू टेक इंडिया, जीनस पेपर, जयप्रकाश असोसिएट्सस मानक्सिया कोटेड और मानक्सिया एल्युमिनियम के शेयर भी इस दौरान 100 से 150 फीसदी तक मजबूत हुए.

कर्ज में डूबी जयप्रकाश असोसिएट्स और जेएसडब्ल्यू ग्रुप ने दिवालियापन संकल्प योजना की शर्तों के तहत जेपी इंफ्राटेक के रियल एस्टेट प्रोजेक्ट को पूरा करने इच्छा जताई है. कंपनी का कहना है कि जेपी इंफ्राटेक के पास कर्ज से ज्यादा एसेट हैं.

वहीं दूसरी तरफ एफसीएस सॉफ्टवेयर, प्रकाश स्टीलेज, लान्को इंफ्राटेक, जेमिनी कॉम्युनिकेशंस, एमपीएस इंफोटेक्निक्स और रसोया के शेयर 2 जनवरी 2017 से 4 दिसंबर 2017 के दौरान 75 फीसदी से अधिक का गोता लगाया.

Share Market: क्या होता है Nifty और Sensex, जानें कैसे करता हैं काम?

sensex

Share Market: अगर आप शेयर मार्केट में नए हैं तो दो शब्द आपको खूब परेशान करते होंगे. एक सेनसेक्स ( Sensex ) और दूसरा निफ्टी ( Nifty ). ये नाम रखे क्यों गए हैं? क्या इनमें आपको कोई अजीब बात नहीं लगती और इनका इस्तेमाल क्या है? दरअसल, स्टॉक मार्केट में दो एक्सचेंज हैं. एक NSE यानी नेशनल स्टोक एक्सचेंज और दूसरा BSE यानी बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज. NSE में 1600 कंपनी लिस्टेड हैं और BSE में 5000 कंपनी लिस्टेड हैं. इन दोनों में कुछ कंपनियां कॉमन भी है. मतबल NSE और BSE दोनों में ही लिस्टेड हैं. जैसे कि रिलायंस और टाटा स्टील आदि. स्टॉक मार्केट में शेयर के प्राइज ऊपर जा रहे या नीचे आ रहे हैं. इसका पता लगाने के लिए हम इंडेक्स पर जाते हैं. वहीं, मार्केट में होने वाले उतार-चढ़ाव को सरल भाषा में समझने के लिए दो शब्द बनाए गए हैं. सेनसेक्स और निफ्टी.

क्या है सेनसेक्स

सेनसेक्स दो शब्दों से मिलकर बना है. सेंसेविटी और इंडेक्स. मतलब, सेनसेक्स मार्केट की सेंसिटिविटी को दर्शाता है. इसके अंदर टॉप 30 कंपनियों को रखा गया है. इसको बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज सेंसिटिव इंडेक्स कहा जाता है. आपको बता दें कि बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का बेंचमार्क और देश का सबसे पुराना स्टॉक मार्केट इंडेक्स है, जिसे शुरुआत में 1986 में की गई थी. सेनसेक्स में जिन कंपनियों को रखा गया है उनमें- BHEL, Bharti Airtel, DLF, ग्रासिम, HDFC, HDFC बैंक, हीरो होंडा, हिंडाल्को, हिन्दुस्तान यूनीलीवर, ICICI बैंक, NTPC, ONGC, रिलायंस कम्युनिकेशन, रिलायंस इंडस्ट्रीज व रिलायंस इफ्रास्ट्रक्चर आदि-आदि शामिल हैं.

क्या है निफ्टी 50

निफ्टी- निफ्टी भी दो शब्दों से मिलकर बना है. नेशनल और फिफ्टी. इसके अंदर टॉप 50 कंपनियों को रखा गया है. इसलिए इसको निफ्टी-फिफ्टी भी कहा जाता है. यहां गौर करने वाली बात यह कि टॉप 50 कंपनियां ही निफ्टी में रहेंगी. निफ्टी में स्टॉक और म्यूचुअल फंड के माध्यम से निवेश होता है. निफ्टी 50 NSE द्वारा एक प्रमुख बेंचमार्क इंडेक्स है. इस प्लेटफ़ॉर्म पर कारोबार करने वाले 50 शीर्ष-प्रदर्शन वाले इक्विटी शेयरों का प्रदर्शन करता है. निफ्टी को 1995 में शुरू किया गया था.

रेटिंग: 4.60
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 110
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *