विदेशी मुद्रा व्यापारी पाठ्यक्रम

एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय

एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय
ANS : अनुपम मित्तल (Anupam Mittal) एक भारतीय उद्यमी , निवेशक है। इसके साथ ही ये Shaadi.com के फाउंडर और सीईओ है। वर्तमान में वे सोनी टीवी के शो शार्क टैंक इंडिया में जज को भूमिका निभा रहे हैं।

RBL Bank Full Form in Hindi

RBL Bank Full Form : RBL बड़े बैंक के लिस्ट में से एक बैंक है लेकिन क्या आप आरबीएल के बारे में जानते हैं RBL Ka Full Form जानते हैं, क्या आपको RBL Bank Full Form in Hindi पता है अगर नहीं तो आप आरबीएल बैंक के बारे में इस आर्टिकल में जान जाएंगे

Table of Contents

आरबीएल बैंक जिसे पहले रत्नाकर बैंक (Ratnakar Bank) के नाम से जाना जाता था यह एक निजी क्षेत्र का बैंक है जिसका मुख्यालय मुंबई में और इसकी स्थापना 1943 में की गई थी

आरबीएल बैंक फुल फॉर्म इन हिंदी

RBL ka ful form “द रत्नाकर बैंक लिमिटेड” जा सकता है क्योंकि एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय या आरबीएल का पुराना नाम है 2014 में द रत्नाकर बैंक लिमिटेड को आरबीएल कर दिया गया

RBL Bank Full Form “Ratnakar Bank Limited” होता है जिसे हिंदी में “द रत्नाकर बैंक लिमिटेड” के नाम से जाना जाता है इसका मुख्यालय मुंबई में स्थित है.

आरबीएल बैंक बेस्ट एंड पॉपुलर सर्विस (RBL Bank Services)

No.RBL Bank Services
01आरबीएल क्रेडिट कार्ड (RBL Credit Card)
02आरबीएल डिजिटल अकाउंट (RBL Digital Account)
03आरबीएल सेविंग अकाउंट (RBL Saving Account)
04आरबीएल फिक्स्ड डिपॉजिट (RBL Fixed Deposit)
05आरबीएल करंट अकाउंट (RBL Current Account)एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय
06आरबीएल बिजनेस लोन (RBL Business Loan)
07आरबीएल इन्वेस्टमेंट सर्विस (RBL Investment Service)
08आरबीएल इंश्योरेंस (RBL Insurance)
09आरबीएल पर्सनल लोन (RBL Personal Loan)

Angel Platform में शामिल होने से पहले 5 बातों पर विचार करें

क्या आपके मन में किसी नए आशावादी व्यवसाय के बारे में कोई विचार है? एंजेल इन्वेस्टमेंट प्लेटफॉर्म आपको ऐसे उभरते स्टार्टअप्स में निवेश करने का मौका देते हैं। Angel platform में शामिल होने से पहले इन 5 बातों पर विचार कीजिए| सबसे पहले, ध्यान केंद्रित करने वाले क्षेत्रों पर एक नज़र डालें। कुछ प्लेटफ़ॉर्म विशिष्ट क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करते हैं, जबकि अन्य सेक्टर संशयवादी होते हैं। इसके बाद प्लेटफार्म के निवेश इतिहास पर अवश्य विचार करें। इस प्लेटफार्म ने कितने स्टार्टअप्स को फंडेड किया है? और कौन से स्टार्टअप इसके प्रमुख निवेश हैं? अगला यह कि क्या आप व्यवसाय को समझते हैं? यदि आप ऐसी जगह निवेश करते हैं जिसकी आपको जानकारी है, तो आप बेहतर निर्णय ले सकते हैं। एक और बात जिस पर आपको विचार करने की आवश्यकता है वह है जोखिम। Angel investing में हमेशा एक एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय उच्च जोखिम की संभावना रहती है। इसलिए, उसी के अनुसार अपने निवेश बजट की योजना बनाएं। अंत में, शुल्क यानी फीस पर विचार करें। Angel investing platforms में आम तौर पर एक बार शुल्क देना होता है। निकास शुल्क यानी Exit fees भी लागू हो सकती है। तो, यह थी वो 5 प्रमुख बातें जिन पर आपको Angel platform में शामिल होने से पहले विचार कर लेना चाहिए। आगे, हम देखेंगे कि पीयर-टू-पीयर लेंडिंग कैसे काम करता है।

अनुपम मित्तल को मिला सम्मान

1 – उन्हें बिजनेस वीक द्वारा भारत के 50 सबसे शक्तिशाली लोगों में से एक के रूप में मतदान दिया गया और द वीक पत्रिका द्वारा देखे जाने वाले 25 लोगों में से एक की सूची में स्थान मिला।

2 – इन्हें इंपैक्ट डिजिटल पावर के 100 व्यक्तियों की सूचियों में 2012 और 2013 में भी मतदान दिया गया। जिसे भारत के डिजिटल पारिस्थितिकी तंत्र के शीर्ष प्रतीकों में चुना गया था।

अनुपम मित्तल द्वारा किया गया कंपनीओ में इन्वेस्टमेंट

अनुपम देश के शीर्ष एंजेल निवेशकों में से एक हैं ,और इन्होंने 94 से अधिक कंपनियों में निवेश किया है ,और वर्तमान में शार्क टैंक इंडिया शो के द्वारा इन्होंने कई कंपनियों में भी निवेश किया है। इन्होंने 200 से अधिक व्यवसायो में निवेश किया है। इन्होंने 2022 में ट्रेड एक्स में 70 मिलियन का निवेश किया है।

1 – 2003 – फ्लेवर्स

स्टार्ट-अप किसे कहते हैं? (What is called a start-up?)

यदि स्टार्ट-अप के अर्थ की बात करें तो किसी भी व्यापार के शुरूआती बिंदु (initial point) अथवा अवधि को स्टार्ट-अप की संज्ञा दी जाती है। यह वह अवधि (period) होती है, जब कोई व्यापार विकसित होने के लिए तैयार हो रहा होता है। दूसरे शब्दों में कहें तो एक नए बिजनेस आइडिया (new business idea) के साथ शुरू किया गया नया वेंचर (venture) स्टार्ट-अप कहलाता है। खास बात यह है कि इसे लोगों की सुविधा अथवा उनकी कोई समस्या हल करने के लिए शुरू किया जाता है।

दोस्तों, लगे हाथों, आपको यह जानकारी भी दे दें कि भारत में स्टार्ट-अप को बढ़ावा देने के लिए स्टार्ट-अप इंडिया अभियान (start-up india mission) का शुभारंभ आज से करीब छह वर्ष पूर्व 16 जनवरी, सन् 2016 को किया गया था। आपको एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय जानकर सुखद आश्चर्य होगा कि इसके पश्चात से 2 मई, 2022 तक देश में कुल 69 हजार से अधिक मान्यता प्राप्त स्टार्ट-अप हो चुके एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय थे।

स्टार्ट-अप एवं बिजनेस में क्या अंतर होता है? (What is the difference between start-up and business?)

दोस्तों, अमूमन लोग स्टार्ट-अप एवं बिजनेस में अंतर नहीं कर पाते। वे उन्हें एक ही पलड़े में तौलते हैं, जबकि दोनों में एक मूलभूत अंतर (basic difference) यह है कि स्टार्ट-अप किसी भी नए आइडिया के साथ शुरू किया जाता है, जबकि बिजनेस मार्केट में पहले से मौजूद आइडिया (idea) के साथ भी शुरू कर दिया जाता है।

एक और अंतर यह है कि स्टार्ट-अप लोगों को सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू किए जाते हैं, जबकि बिजनेस का एकमात्र उद्देश्य केवल पैसा कमाना होता है। यही वजह है कि सरकार पूरे जतन से स्टार्ट-अप को बढ़ावा देने में लगी हुई है।

यूनिकार्न स्टार्टअप किसे कहते हैं? (What एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय is a unicorn start-up?)

इस शब्द को इन दिनों वेंचर कैपिटल इंडस्ट्री (venture capital industry) में बहुत इस्तेमाल किया जा रहा है। यदि आर्थिक क्षेत्र (economic sector) की बात करें तो जब किसी कंपनी को किसी बेसिक आइडिया के साथ शुरू किया जाता है और यह कंपनी लगातार प्रगति पथ पर अग्रसर होकर एक बिलियन डॉलर (billion dollar) से अधिक की वैल्यूएशन (valuation) के पार पहुंच जाती है तो इसे यूनिकार्न स्टार्ट-अप (unicorn start-up) पुकारा जाता है।

अब आपके मन में यह सवाल उठ रहा होगा दोस्तों कि पहली बार इस यूनिकार्न स्टार्ट-अप (unicorn start-up) शब्द को कब और किसने इस्तेमाल किया? तो आपको बता दें दोस्तों कि पहली बार इस शब्द को आज से नौ वर्ष पूर्व सन् 2013 में कैलिफोर्निया (California) स्थित पालो आल्टो के एक वेंचर कैपिटलिस्ट (venture capitalist) ऐलीन ली द्वारा इस्तेमाल किया गया था। आपको बता दें कि ली एक सीड स्टेज (seed stage) वेंचर कैपिटल फंड काउबॉय वेंचर्स (cowboy venturs) के संस्थापक (founder) थे।

भारत में इस समय कितने यूनिकॉर्न स्टार्ट-अप हैं? (How many unicorn statrt-ups are there in India?)

हमारे भारत में भी स्टार्ट-अप तेजी से उभर रहे हैं। आपको बता दें कि अगस्त 2023 तक भारत में कुल यूनिकार्न स्टार्ट-अप (unicorn start-up) की संख्या 107 थी। इनकी संयुक्त वैल्यू 343 बिलियन डालर से भी अधिक थी। खास बात यह है कि इनमें से 21 स्टार्ट-अप 2023 में ही यूनिकार्न क्लब (unicorn club) में शामिल हुए हैं।

आपको जानकारी दे एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय दें दोस्तों कि बंगलूरू (bengluru) बेस्ड सेल्स आटोमेशन प्लेटफार्म (sales automation platform) लीडस्क्वायर्ड (एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय leadsqueard) ताजातरीन भारतीय स्टार्ट-अप है, जो यूनिकार्न क्लब में शामिल हुआ है। इसे वेस्ट ब्रिज कैपिटल (west bridge capital) से सीरीज सी राउंड के एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय एंजेल इन्वेस्टमेंट का परिचय पश्चात 153 मिलियन डालर (million dollar) की फंडिंग हुई है।

इस प्रकार इसकी वैल्यू एक बिलियन डालर से पार हो गई है। मित्रों, यह जान लीजिए कि जिस प्रकार सरकार स्टार्ट अप को बढ़ावा दे रही है, उसे देखते हुए यूनिकार्न स्टार्ट-अप की संख्या लगातार बढ़ेगी, ऐसा मानकर चला जा सकता है।

रेटिंग: 4.37
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 805
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *