विदेशी मुद्रा व्यापारी पाठ्यक्रम

वित्तीय उपकरण

वित्तीय उपकरण
  • विद्यालयों/आवासीय विद्यालयों/कॉलेजों की स्थापना/विस्तार हेतु वित्तीय सहायता;
  • प्रयोगशाला उपकरण तथा फर्नीचर आदि की खरीद के लिए वित्तीय सहायता;
  • व्यावसायिक/तकनीकी प्रशिक्षण केन्द्र/संस्थानों की स्थापना/सुदृढ़ीकरण के लिए वित्तीय सहायता;
  • छात्रावास भवन के निर्माण के लिए वित्तीय सहायता;
  • मेधावी छात्राओं के लिए मौलाना आजाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति;
  • मौलाना अब्दुल कलाम आजाद साक्षरता पुरस्कार;

उपकरण और उपस्कर क्रय में वित्तीय अनियमितता

सुपौल। प्रयोगशाला उपकरण और उपस्कर क्रय मामले में प्रयोगशाला उपकरण और उपस्कर क्रय मामले में जिले में हुई सात करोड़ 69 लाख की वित्तीय अनियमितता की जांच का मामला पिछले 18 महीनों से फाइलों में ही घूम रहा है।

सुपौल। प्रयोगशाला उपकरण और उपस्कर क्रय मामले में जिले में हुई सात करोड़ 69 लाख की वित्तीय अनियमितता की जांच का मामला पिछले 18 महीनों से फाइलों में ही घूम रहा है। जांच कमेटी ने अभिलेख और कागजात शिक्षा विभाग द्वारा समर्पित नहीं किए जाने को लेकर जिलाधिकारी को प्रतिवेदन समर्पित कर दिया है। शिक्षा विभाग द्वारा उपलब्ध कागजात को समर्पित कर देने एवं शेष कागजात कार्यालय में उपलब्ध नहीं रहने का दावा किया जा रहा है।

जिले के 131 माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक विद्यालयों में वित्तीय वर्ष 2017-18 में राज्य सरकार द्वारा प्रयोगशाला उपकरण और उपस्कर क्रय वित्तीय उपकरण के लिए राशि आवंटित की गई थी। जिसमें बड़े पैमाने पर वित्तीय अनियमितता को लेकर जांच दल गठित की गई थी। जांच कमेटी और शिक्षा विभाग के बीच अभिलेख लेन-देन पर ही मंथन चल रहा है। विडंबना तो यह है कि अपर मुख्य सचिव शिक्षा विभाग के आदेश पर जिलाधिकारी सुपौल द्वारा वरीय उप समाहर्ता की अध्यक्षता में गठित तीन सदस्यीय जांच दल के द्वारा 18 माह बीत जाने के बावजूद जांच प्रतिवेदन समर्पित नहीं किया गया है।

जिला पदाधिकारी ने जांच दल के तीनों सदस्यों को एक सप्ताह में स्पष्टीकरण सहित जांच प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का आदेश दिया था। जांच प्रतिवेदन प्राप्त नहीं होने की स्थिति में अनुशासनिक कार्रवाई प्रारंभ कर देने की बात कही थी। जांच पदाधिकारी ने शिक्षा विभाग के द्वारा अभिलेख नहीं देने का प्रतिवेदन समर्पित किया है। वहीं दूसरी ओर निदेशक माध्यमिक शिक्षा ने जिला शिक्षा पदाधिकारी का वेतन स्थगित कर उपस्कर एवं प्रयोगशाला उपकरण से संबंधित विद्यालयों की सूची उपयोगिता प्रमाण पत्र के साथ 16 सितंबर तक समर्पित करने का आदेश दिया है। निर्धारित समय तक विहित प्रपत्र में सूचना उपलब्ध नहीं कराने वाले जिला शिक्षा पदाधिकारी के विरुद्ध् नियमानुकूल कार्रवाई की जाएगी।

अपर मुख्य सचिव का क्या था आदेश

बिहार सरकार शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने अपने कार्यालय पत्रांक 594 दिनांक 14 मार्च 2019 के द्वारा परिवाद के आलोक में जिला पदाधिकारी को पत्र लिखकर कहा है कि राज्य सरकार द्वारा माध्यमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालयों में प्रयोगशाला उपकरण एवं उपस्कर क्रय करने के लिए उपलब्ध कराए गए वित्तीय उपकरण राशि के अपव्यय शिकायत विभिन्न स्तरों से पूर्व में प्राप्त हुए हैं। अपर मुख्य सचिव जिला पदाधिकारी को वरीय उप समाहर्ता के नेतृत्व में तीन सदस्यीय जांच टीम का गठन कर जांच दो माह में पूर्ण करा कर जांच प्रतिवेदन विभाग को समर्पित करने वित्तीय उपकरण का आदेश दिया।

---------------- डीएम ने जांच दल से मांगा था स्पष्टीकरण

जिला पदाधिकारी के आदेश पर उप विकास आयुक्त ने वरीय उप समाहर्ता वीरेंद्र कुमार, जिला योजना पदाधिकारी सुपौल एवं वरीय कोषागार पदाधिकारी सुपौल को पत्र लिखकर जांच प्रतिवेदन समय पर समर्पित नहीं करने की स्थिति में स्पष्टीकरण भी मांगा गया। लेकिन जांच पदाधिकारी के द्वारा स्पष्टीकरण का जवाब नहीं दिया गया। पुन एक सप्ताह में स्पष्टीकरण देने को कहा गया है। प्रतिवेदन प्राप्त होने पर अनुशासनिक कार्रवाई की जाएगी। ------------------

नियमावली में उल्लंघन कर उपस्कार का क्रय

डीपीओ के द्वारा 31 मार्च 2018 को कोषागार से राशि की निकासी कर विद्यालय के प्रधान के खाता में न भेज कर अपने निजी बैंक के खाता में जमा कर दिया। कई महीनों के बाद राशि विद्यालय को भेजी गई। राशि के खर्च हेतु विद्यालय के प्रधानाध्यापक की वित्तीय उपकरण अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया। विभागीय पदाधिकारी, आपूर्तिकर्ता एवं कई विद्यालय के प्रधानाध्यापक ने बिहार नियमावली का उल्लंघन कर बिना निविदा का उपस्कर क्रय किया। जो सरकार के आदेश का उल्लंघन है।

सशस्त्र बलों को वित्तीय ताकत

रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि देश के संवेदनशील सैन्य ठिकानों पर सुरक्षा को मजबूत करने के लिए सरकार ने थलसेना, नौसेना और वायुसेना को 'पर्याप्त' वित्तीय ताकत दी है। मंत्रालय ने कल कहा कि संवेदनशील रक्षा संपत्तियों की पूर्ण सुरक्षा का काम प्राथमिकता एवं समयबद्ध तरीके से किया जाना सुनिश्चित करने के लिए रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने कड़ी समय सीमा तय की है।

तीनों सेवाओं के उप प्रमुखों को आदेश देने, उपकरण खरीदने और असैन्य काम करने के अधिकार दिए गए हैं। इसके लिए उन्हें रक्षा मंत्रालय से मंजूरी लेने की जरूरत नहीं है। मंत्रालय ने एक बयान में कहा, 'एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए रक्षा मंत्रालय ने संवेदनशील सैन्य ठिकानों के परिसरों की सुरक्षा के काम को अंजाम देने के लिए सैन्य बलों को पर्याप्त वित्तीय ताकत देने का फैसला किया है।' आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि इस फैसले के बाद तीनों उप प्रमुख संवेदनशील सैन्य अड्डों पर परिसर की सुरक्षा मजबूत करने के लिए कम से कम 800 करोड़ रुपये वार्षिक तौर पर खर्च कर सकेंगे।

पिछले साल पठानकोट वायुसैन्य अड्डे पर हमले के बाद बलों द्वारा चिह्नित कुल 3000 संवेदनशील अड्डों में थलसेना, नौसेना और वायुसेना के 600 अति संवेदनशील ठिकाने शामिल हैं। यह फैसला ऐसे समय पर आया है, जब भारतीय सेना डोकलाम में चीनी सेना के साथ आमने-सामने की स्थिति में है और जम्मू-कश्मीर में सीमा पार से होने वाले हमलों की बढ़ती घटनाओं से जूझ रही है।

रक्षा मंत्रालय ने कहा कि वित्तीय ताकतें देने का उद्देश्य वायुसैन्य अड्डों और रक्षा प्रतिष्ठानों के सुरक्षा तंत्र के आधुनिकीकरण में निहित निर्णय प्रक्रिया में तेजी लाना है। मंत्रालय ने कहा, 'यह वित्तीय अधिकार इन सेवाओं की मौजूदा शक्तियों में एक बड़ा इजाफा दिखाता है।' पिछले साल पठानकोट हमले के बाद लेफ्टिनेंट जनरल फिलिप कंपोस की अध्यक्षता में गठित समिति की सिफारिश पर रक्षा अड्डों का सुरक्षा ऑडिट किया गया था। समिति से सैन्य अड्डों की सुरक्षा बढ़ाने के उपायों की सिफारिश करने के लिए कहा गया था। सैन्य बलों ने मौजूदा और अगले वित्तीय वर्षों में 'बेहद संवेदनशील, संवेदनशील और मध्यम स्तर पर संवेदनशील अड्डों' पर सुरक्षा तंत्र को मजबूत करने के लिए एकसाथ दो हजार करोड़ रुपये की मांग की थी।

वित्तीय उपकरण

मापदंड

योजना के दिशानिर्देश

पात्रता

ए हमारे बैंक से कार्यशील पूंजी (एफ़बी/एनएफ़बी (एलसी एवं बीजी दोनों) की सीमा का लाभ उठाने वाली किसी भी गतिविधि में कार्यरत सभी एमएसएमई एवं गैर-एमएसएमई इकाइयां.

बी) बाह्य क्रेडिट रेटिंग बीबीबी एवं उससे ऊपर वाले बैंक के नए एमएसएमई ग्राहक (सभी गतिविधियां) एवं बैंक के नए गैर-एमएसएमई ग्राहक (ठेकेदार).

सी) उधारकर्ता न्यूनतम 2 वर्षों से व्यवसाय में होना चाहिए. इकाई लाभ कमाने वाली होनी चाहिए एवं मंजूरी की तारीख को एसएमए श्रेणी के तहत नहीं होनी चाहिए. खाता पिछले 12 महीनों के दौरान एसएमए-2 नहीं होना चाहिए.

डी) बैंक के लिए नए एमएसएमई उधारकर्ता भी निम्नलिखित अनुपालन के साथ (‘बीबीबी’ एवं उससे ऊपर की बाह्य क्रेडिट रेटिंग के स्थान पर) भी रु. 10 करोड़ की अधिकतम सीमा के पात्र हैं:

न्यूनतम 3 वर्षों तक परिचालन में हो.

विगत 3 वर्षों तक पंजीकृत निवल लाभ की स्थिति हो.

विगत 2 वर्षों में किसी भी ऋणदाता के साथ खाता एसएमए-1 एवं एसएमए-2 के रूप में प्रदर्शित नहीं होना चाहिए.

प्रमोटरों/निदेशकों का सीआईसी स्कोर 700+ होना चाहिए.

बैंक की मौजूदा नीति के अनुसार सिबिल सीएमआर, वित्तीय बेंचमार्क अनुपात.

उद्देश्य

मौजूदा व्यावसायिक गतिविधि के लिए आवश्यक वाणिज्यिक उपकरण, वाणिज्यिक वाहन की खरीद हेतु एवं केवल आबद्ध उपयोग के लिए.

सुविधा

सावधि ऋण [उपकरण के आयात के मामले में साख पत्र के प्रारंभिक भाग (फ्रंट एंडेड एलसी) की मंजूरी पर विचार किया जा सकता है]

मात्रा

न्यूनतम: रु. 10.00 लाख से अधिक

अधिकतम: रु. 50.00 करोड़

मार्जिन

3 महीने के डीएसआरए के साथ उपकरण की लागत पर न्यूनतम 5% अन्यथा मार्जिन 10% होगा.

ब्याज दर

एमएसएमई: ईबीएलआर + 0.50% से 1.50%

गैर एमएसएमई: एमसीएलआर से एमसीएलआर+1%

प्रभार

लागू प्रसंस्करण प्रभार में 50% की रियायत. बैंक के मौजूदा दिशानिर्देशों के अनुसार अन्य प्रभार.

प्रतिभूति

खरीदे जाने वाले उपकरणों का दृष्टिबंधक. संपार्श्विक या सीजीटीएमएसई प्रदान करने की आवश्यकता नहीं है.

अवधि

3 महीने की अधिस्थगन अवधि सहित 60 महीने तक (मामले के आधार पर 84 महीने). उधारकर्ता को पात्रता के अनुसार एक क्रेडिट लाइन अनुमोदित की जाएगी जो कि मंजूरी की तारीख से एक वर्ष की अवधि के भीतर उधारकर्ता की आवश्यकता के अनुसार किस्तों में प्राप्त की जा सकती है.

लक्ष्य एवं उद्देश्य:

मौलाना आजाद शिक्षा प्रतिष्ठान का मुख्य उद्देश्य विशेषकर शैक्षिक दृष्टि से पिछड़े वित्तीय उपकरण अल्पसंख्यकों के लाभार्थ तथा सामान्यतः कमजोर वर्गों के लिए शैक्षिक योजनाएं तैयार करना और उन्हें कार्यान्वित करना है, ताकि आवासीय स्कूलों, विशेषकर वित्तीय उपकरण छात्राओं के लिए, की स्थापना की जा सके और उन्हें आधुनिक शिक्षा सुलभ कराने के साथ-साथ अनुसंधान को बढ़ावा दिया जा सके और शैक्षिक दृष्टि से पिछड़े अल्पसंख्यकों के लाभ से जुड़े अन्य प्रयासों को प्रोत्साहित किया जा सके।

योजनाओं के ब्यौरे

मौलाना आजाद शिक्षा प्रतिष्ठान की योजनाएं मुख्यतः दो प्रकार की हैं, अर्थात् छात्राओं पर विशेष जोर देते हुए विद्यालयों/ छात्रावासों/ तकनीकी/व्यावसायिक शिक्षा केन्द्रों के निर्माण और विस्तार हेतु गैर-सरकारी संगठनों को सहायता-अनुदान तथा मेधावी छात्राओं को छात्रवृत्तियां । इस प्रतिष्ठान द्वारा संचालित विभिन्न योजनाएं इस प्रकार हैं –

  • विद्यालयों/आवासीय विद्यालयों/कॉलेजों की स्थापना/विस्तार हेतु वित्तीय सहायता;
  • प्रयोगशाला उपकरण तथा फर्नीचर आदि की खरीद के लिए वित्तीय सहायता;
  • व्यावसायिक/तकनीकी प्रशिक्षण केन्द्र/संस्थानों वित्तीय उपकरण की स्थापना/सुदृढ़ीकरण के लिए वित्तीय सहायता;
  • छात्रावास भवन के निर्माण के लिए वित्तीय सहायता;
  • मेधावी छात्राओं के लिए मौलाना आजाद राष्ट्रीय छात्रवृत्ति;
  • मौलाना अब्दुल कलाम आजाद साक्षरता पुरस्कार;

समग्र निधि

मौलाना आजाद शिक्षा प्रतिष्ठान अपनी योजनाओं का कार्यान्वयन अपनी समग्र निधि पर अर्जित ब्याज राशि से कर रहा है, जो इसकी आय का मुख्य स्रोत है। प्रतिष्ठान को समग्र निधि योजनागत सहायता स्वरूप उपलब्ध करायी गई है। प्रतिष्ठान की समग्र निधि वर्ष 2006-07 में 100 करोड़ रुपये थी, जो अब बढ़कर 1249.00 करोड़ रुपये हो गई है।

वर्तमान वर्ष की उपलब्धियां

प्रतिष्ठान ने अपने गठन के समय से लेकर देश भर में 1548 गैर-सरकारी संगठनों को विद्यालयों/कॉलेजों/बालिका छात्रावासों/पॉलीटेक्नीकों/औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों के निर्माण/विस्तार के लिए तथा उपकरण/मशीनरी/फर्नीचर आदि की खरीद के लिए 199.73 करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं तथा 230744 छात्राओं को 274.72 करोड़ रुपये राशि की छात्रवृत्तियां संवितरित की हैं। मौजूदा योजना अवधि के दौरान वर्ष-वार उपलब्धियों के ब्यौरे अनुलग्नक-I.पर हैं।

Public Provident Fund Calculator : जाने PPF में आपको कितने पैसे मिलेंगे, ऐसे करे ऑनलाइन गणना

Public Provident Fund Calculator : धन प्रबंधन की दिशा में पहला कदम बचत (Saving ) है ! आपको बचत खातों ( Saving Account ) के लिए बहुत सारे विकल्प मिलेंगे; हालांकि, उन लोगों की तलाश करें जो पर्याप्त रिटर्न की गारंटी देते हैं जोखिम-मुक्त पीपीएफ खाते ( PPF Account ) सबसे आम विशेषताओं में से एक हैं जो तस्वीर में आते हैं ! PPF खाता सार्वजनिक भविष्य निधि ( Public Provident Fund ) खाते को संदर्भित करता है और यह आपकी मूल्यवान पूंजी का निवेश करने के लिए होता है !

Public Provident Fund Calculator

Public Provident Fund Calculator

Public Provident Fund Calculator

यदि आप एक नए कर्मचारी या एक जिम्मेदार माता-पिता हैं जो भविष्य के लिए बचत करना चाहते हैं, तो पीपीएफ ( Public Provident Fund ) आपके लिए आदर्श है ! अपने पीपीएफ खाते ( PPF Account ) पर ब्याज दरों और रिटर्न की गणना करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है ! इन कठिन गणनाओं को आसान बनाने के लिए, पीपीएफ खाता ( Saving Account ) कैलकुलेटर का उपयोग किया जा सकता है !

पीपीएफ कैलकुलेटर आपकी मदद कैसे कर सकता है?

यह वित्तीय उपकरण सार्वजनिक भविष्य वित्तीय उपकरण निधि खाते ( Public Provident Fund ) से संबंधित उनके प्रश्नों को हल करने की अनुमति देता है ! एक निश्चित समय के बाद परिपक्वता वित्तीय उपकरण राशि की गणना करते समय कुछ विशिष्टताओं का पालन करना होता है ! यह आपकी पूंजी के विकास पर नज़र रखता है ! जिनके पास पहले से ही PPF बचत खाता ( PPF Account ) है, वे जानते हैं कि मासिक आधार पर ब्याज दरों में बदलाव होता है !

आजकल, ब्याज दरों को बदलने के लिए एक चेक रखना आसान है ! हालांकि, सार्वजनिक भविष्य निधि कैलकुलेटर की खोज के साथ , खाताधारकों को ब्याज दर में किए गए मासिक परिवर्तनों का पता लगाना आसान है ! बाजार में, आप बहुत उपयोगकर्ता के अनुकूल पीपीएफ कैलकुलेटर ( Saving Account ) पा सकते हैं !

पीपीएफ की गणना के लिए प्रयुक्त सूत्र

बढ़ी हुई जमा राशि, ब्याज आदि की गणना करने के लिए एक सूत्र का उपयोग करता है ! यह सूत्र नीचे दिया गया है –

यह सूत्र निम्नलिखित चर का प्रतिनिधित्व करता है –

I वित्तीय उपकरण – ब्याज की दर
F – PPF की परिपक्वता
N – कुल वर्षों की संख्या
P – वार्षिक किश्तें

पीपीएफ ( Public Provident Fund ) गणना के बारे में अपनी अवधारणा को साफ करने के लिए, एक उदाहरण दिया गया है ! पीपीएफ ( PPF Account ) कैलकुलेटर खरीदते ही यह गणना आसान हो जाती है ! मान लीजिए, एक व्यक्ति सालाना दो लाख रुपये का भुगतान करता है ! 15 साल की अवधि के लिए उनके पीपीएफ निवेश में 2,00,000 7% की ब्याज दर पर और फिर समापन वर्ष में उसकी परिपक्वता राशि 5763698 के बराबर होगी !

PPF Calculator – Public Provident Fund Calculator Online

धन प्रबंधन की दिशा में पहला कदम बचत जमा करना है। बचत खातों के लिए आपको बहुत सारे विकल्प मिलेंगे; हालांकि, उन लोगों की तलाश करें जो जोखिम-मुक्त पर्याप्त रिटर्न की गारंटी देते हैं। पीपीएफ खाते सबसे आम सुविधाओं में से एक हैं जो तस्वीर में आते हैं। पीपीएफ खाता सार्वजनिक भविष्य निधि खाते को संदर्भित करता है और यह आपकी मूल्यवान पूंजी का निवेश करने के लिए है।

यदि आप एक नए कर्मचारी या जिम्मेदार माता-पिता हैं जो भविष्य के लिए बचत करना चाहते हैं, तो पीपीएफ आपके लिए आदर्श है। अपने पीपीएफ खाते पर ब्याज दरों और रिटर्न की गणना करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। इन कठिन गणनाओं को आसान बनाने के लिए पीपीएफ अकाउंट कैलकुलेटर का उपयोग किया जा सकता है।

रेटिंग: 4.73
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 537
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *